कांग्रेस को तगड़ा झटका, अरुणाचल प्रदेश की दोनों सीटों पर बीजेपी ने किया कब्ज़ा

0 164

अरुणाचल प्रदेश की पाक्के कसांग और लिकाबली विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी ने जीत दर्ज करके दोनों सीटें कांग्रेस से छीन लिया। इस तरह 60-सदस्यीय राज्य विधानसभा में अब बीजेपी के 49 विधायक हो गए हैं। पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल (पीपीए) के नौ, कांग्रेस का एक विधायक और एक निर्दलीय विधायक है। पाक्के कसांग सीट पर बीजेपी के बी.आर वाघे ने 475 वोटों के कम अंतर से जीत दर्ज करके कांग्रेस के अपने एकमात्र प्रतिद्वंद्वी और पूर्व उपमुख्यमंत्री कामेंग डोलो को पराजित किया। संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डीजे भट्टाचार्य ने बताया कि वाघे को 3,517 मत मिले, जबकि डोलो को 3,042 वोट प्राप्त हुए।

Also Read: बलून में बैठकर ‘काशी दर्शन’ के लिए हो जाइए तैयार

बीजेपी उम्मीदवार को 3,461 मत मिले
लिकाबली सीट पर बीजेपी के कार्दो नेयिगयोर ने पीपीए के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी गुमके रिबा को 305 मतों से हराकर जीत दर्ज की। बीजेपी उम्मीदवार को 3,461 मत मिले, जबकि पीपीए उम्मीदवार को 3,156 वोट मिले। कांग्रेस उम्मीदवार मोदाम दिनी को केवल 362 मत मिले। इस सीट पर एकमात्र निर्दलीय उम्मीदवार सेंगो तेइपोडिया को 675 वोट हासिल हुए। इन सीटों पर 21 दिसंबर को हुए उपचुनाव में 68.5 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ था।

Also Read: सीमा पर ‘नापाक’ हरकत, तीन जवान शहीद

जोमदे केना के निधन होने से लिकाबली सीट खाली हुई

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री जोमदे केना का 4 सितंबर को निधन हो गया था, जिसके बाद लिकाबली सीट खाली हो गई थी। हाईकोर्ट ने 15 मार्च, 2014 को कामेंग डोलो के चुनाव को अमान्य घोषित कर दिया था, जिसके बाद पाक्के-केसांग सीट खाली हो गई थी। पूर्व कांग्रेस विधायक मानस भूइयां के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के कारण इस सीट पर उपचुनाव आवश्यक हो गया था। वह अब तृणमूल की तरफ से राज्यसभा सदस्य हैं। तृणमूल कांग्रेस ने भूइयां की पत्नी गीता को उम्मीदवार बनाया था, जिन्होंने अपने पति से भी अधिक अंतर पर जीत दर्ज की।

साभार: (dainikbhaskar.com)

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)
Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More