यूपी: जबरन धर्मांतरण को लेकर हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियों पर थूका और लगाई आग

0 408

यूपी के संभल से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. आरोप है कि जबरन धर्म परिवर्तन को लेकर हिंदुओं के घर में एक मिशनरी स्कूल की दो सिस्टर्स ने घुसकर देवी-देवताओं की मूर्तियों पर थूका और तस्वीरों पर आग लगा दी. इस घटना के बाद से माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है. इस मामले पर पुलिस ने तहरीर मिलने पर दोनों को हिरासत में लिया है.

जानकारी के मुताबिक, यह बेहद गंभीर मामला संभल के नखासा थाना के गांव सिरसा नाल का है. यहां के निवासी विलियम ईसाई है और उसकी पत्नी सुनीता हिंदू हैं. विलियम के अनुसार, अलग धर्म होने के बावजूद पत्नी हिंदू देवी-देवताओं की पूजा करती है. जबकि वह ईसाई धर्म मानता है. धर्म को लेकर दोनों में कोई झगड़ा नहीं है और दोनों खुश हैं. बीते दिनों गांव स्थित चर्च के स्कूल की दो सिस्टर उनके घर पहुंचीं और देवी देवताओं की तस्वीरों पर थूका हिंदू देवी देवताओं की प्रतिमा और तस्वीरें जला दीं.

Also Read: कानपुर: महीनों से मुस्लिम कर्मचारी का जूठा पानी पी रहे थे पार्षद, शिकायत पर हुआ जमकर हंगामा, मुबीन ने कुबूली तौफीक की बात

आरोप है कि सिस्टर, विलियम की पत्नी को जबरन ईसाई बनाने का दबाव बना रही थी. जिसके बाद विलियम ने अपनी पीड़ा का वीडियो वायरल किया. इस पर पुलिस भी एक्टिव हुई. विलियम की पत्नी ने भी जबरन धर्मांतरण कराने को हिंदू देवी देवताओं के अपमान का आरोप लगाते सिस्टर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने को तहरीर दी है. विलियम का कहना है कि अब वह भी हिंदू बनेगा. इन लोगों का कुछ नहीं पता. क्योंकि जैसे मूर्तियां जलाईं, वैसे उसकी पत्नी को भी जला सकते हैं.

 

इस घटना के संबंध में संभल के पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्रा ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली कि नखासा थाना क्षेत्र के सिरसा नाल गांव में पिछले 21 सितंबर को मिशनरी से संचालित सीडीएम जूनियर हाईस्कूल की शिक्षिकाओं सिस्‍टर रोज मेरी और सिस्‍टर डीसा ने एक हिंदू परिवार के धर्मांतरण की कोशिश की. इस दौरान हिंदू देवी-देवताओं के चित्र को भी जलाया गया.

एसपी चक्रेश मिश्रा ने बताया कि धर्मांतरण की कोशिश का आरोप लगाने वाली सुनीता नामक महिला का पति भी ईसाई है. इस मामले में सुनीता ने थाने में तहरीर दी थी. उसकी तहरीर के आधार पर मिशनरी स्कूल की सिस्टर रोज मेरी और सिस्‍टर डीसा के खिलाफ गुरुवार को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और अवैध धर्मांतरण रोधी कानून की सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया था. वहीं, दोनों शिक्षिकाओं को शुक्रवार को हिरासत में ले लिया गया.

Also Read: लखनऊ: जय श्रीराम बोलकर मंदिर में घुसा तौफीक अहमद, फिर हनुमान जी और शनि देव की तोड़ी मूर्तियां

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More