लखनऊ: जय श्रीराम बोलकर मंदिर में घुसा तौफीक अहमद, फिर हनुमान जी और शनि देव की तोड़ी मूर्तियां

0 250

यूपी की राजधानी लखनऊ से हनुमान मंदिर के अंदर मूर्ति को खंडित करने और ध्वज फाड़ने का मामला सामने आया है. इस हरकत के दौरान लोगों ने युवक की पकड़कर खूब पिटाई की. वहीं, इस मामले में स्थानीय पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है. उसकी पहचान तौफीक अहमद के रूप में हुई है. पुलिस ने मंदिर की सुरक्षा बढ़ा दी है. मौके पर फोर्स तैनात कर दी है. एफआईआर लिख कर पूरे मामले की जांच की जा रही है.

पूरा मामला लखनऊ स्थित टीले वाली मस्जिद के पास प्राचीन लेटे हनुमान जी के मंदिर का है. यहां पर बीते बुधवार को मंदिर के अंदर मंगल महोत्सव का एक बड़ा प्रोग्राम चल रहा था और उसी दौरान एक शख्स आया. उस शख्स ने जय श्रीराम का नारा लगाया और फिर मूर्ति खंडित दी. लोगों ने युवक को पकड़ लिया और उसकी जमकर कुटाई कर दी.

उधर, मंदिर के पुजारी अमर मिश्रा का आरोप है कि उनके टोकने पर युवक तौफीक ने कहा कि वह दर्शन करने आया है. इसके बाद वह अपने कक्ष में चले गए. इस बीच तौफीक बाहर निकला और उसने ईंट मारकर दो मूर्ति खंडित की, जिसमें एक शनि देव की और दूसरी हनुमान जी की है और ध्वज तोड़ दिया.

हनुमान मंदिर के अंदर मूर्ति तोड़े जाने की घटना पर स्थानीय विधायक नीरज बोरा ने बड़ी साजिश का अंदेशा जताया है. उनका कहना है कि इसके पीछे दंगा फैलाने की मंशा हो सकती है. फिलहाल हिंदूवादी संगठनों के लोगों का मंदिर पहुंचने का सिलसिला जारी है. विश्व हिंदू परिषद अमर सिंह और बजरंग दल जिला संयोजक नितेश शर्मा भी मंदिर पहुंचे.

एडीसीपी चिरंजीव नाथ सिन्हा ने बताया कि हनुमान जी और शनिदेव की मूर्ति खंडित कर ध्वज फाड़ने वाला तौफीक नशे में धुत था. तौफीक इतना अधिक नशे में था कि वह ठीक से बात भी नहीं कर पा रहा था. वह स्मैक और शराब का लती है. उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है. हालांकि, पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है. सुबह स्थिति सामान्य होने पर उसने पूछताछ में अपना नाम बताया. फिलहाल, सभी पहलुओं की जांच की जा रही है.

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More