पीएम मोदी ने Mann Ki Baat में की जल संरक्षण की बात

0 237

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आकाशवाणी पर अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में राष्ट्र को संबोधित किया। पीएम मोदी के दोबारा सत्‍ता संभालने के बाद मन की बात कार्यक्रम की यह दूसरी कड़ी थी।

जल संरक्षण का उठाया मुद्दा-

मन की बात करते हुए पीएम मोदी ने जल संरक्षण का मुद्दा उठाया। प्रधानमंत्री ने कहा कि पानी के विषय में इन दिनों हिन्दुस्तान के दिलों को झकझोर दिया है, जल संरक्षण को लेकर, देशभर में अनेक विद प्रभावी प्रयास चल रहे हैं। मीडिया ने जल संरक्षण पर कई इनोवेटिव कैंपेन शुरू किये हैं, सरकार हो, एनजीओ हो, सभी युद्ध स्तर पर कुछ-ना-कुछ कर रहे हैं।

झारखंड में ओरमांझी प्रखण्ड के आरा केरम गांव में, वहां के ग्रामीणों ने जल प्रबंधन को लेकर जो हौसला दिखाया है, वो हर किसी के लिए मिसाल बन गया है। ग्रामीणों ने, श्रम दान करके पहाड़ से बहते झरने को, एक निश्चित दिशा देने का काम किया है।

प्रधानमंत्री ने बताया कि नॉर्थ ईस्ट का खूबसूरत राज्य मेघालय देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जिसने अपनी वॉटर पॉलिसी तैयार की है। आगे बताया कि हरियाणा सरकार ने किसानों के साथ संवाद करके, उन्हें परम्परागत खेती से हटकर, कम पानी वाली फसलों के लिए प्रेरित किया है।

सुनाए जाबाज बच्चों के कारनामे-

पीएम मोदी ने कहा कि कैंसर एक ऐसा शब्द है जिससे पूरी दुनिया डरती है लेकिन इन सभी दस बच्चों ने, अपनी ज़िंदगी की जंग में, ना केवल कैंसर जैसी घातक बीमारी को पराजित किया है बल्कि अपने कारनामे से पूरी दुनिया में भारत का नाम रोशन किया है।

खिलाड़ी श्रृंखला जीतने या मैडल हासिल करने के बाद चैंपियन बनते हैं, लेकिन ये बच्चे, खेल प्रतियोगिता में हिस्सा लेने से पहले ही चैंपियन थे और वो भी ज़िंदगी की जंग के। इसी महीने मॉस्को में World Children Winners Games का आयोजन हुआ जिसमें Young Cancer Survivors ने हिस्सा लिया और मैडल जीते।

चंद्रयान की विशेष मायने-

Chandrayan 2 के प्रक्षेपण की तस्वीरों ने देशवासियों को जोश, गौरव और प्रसन्नता से भर दिया, यह मिशन कई मायनों में विशेष है Chandrayan 2 चांद के बारे में हमारी समझ को और भी स्पष्ट करेगा।

Chandrayan 2 पूरी तरह से भारतीय रंग में ढ़ला है, स्वदेशी है, यह दिल और जूनून दोनों से भारतीय है।

इस मिशन ने एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि जब बात नए क्षेत्र में कुछ नया कर गुजरने की हो Innovative Zeal की हो तो हमारे वैज्ञानिक सर्वश्रेष्ठ हैं, विश्व-स्तरीय हैं दूसरा, महत्वपूर्ण पाठ यह है कि किसी भी व्यवधान से घबराना नहीं चाहिए।

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More