ब्रिटेन को पछाड़ भारत बना दुनिया का 5वां सबसे बड़ी इकोनॉमी वाला देश, जानिए अर्थव्यवस्था में अंतर

0 308

अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के अनुसार, भारत साल 2021 के आखिरी के कुछ महीनों में ब्रिटेन को पछाड़ते हुए 5वां सबसे बड़ा इकोनॉमी वाला देश बन गया है. इसके साथ, आईएमएफ ने बताया कि भारत यह बढ़त वित्त वर्ष 2022-23 में भी बनाये हुए है, जिसके कारण साल के आधार पर भी भारत 5वें स्थान पर पहुंच सकता है. एक अनुमान के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष में भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट 13.5 फीसदी रही है.

भारत और ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में अंतर…

अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के अनुसार, साल 2021 के आखिरी 3 महीनों में भारत की अर्थव्यवस्था 854.7 अरब डॉलर रही. वहीं, उसी दौरान ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था 816 अरब डॉलर रही. एक दशक पहले भारत की अर्थववस्था 11वें स्थान पर रही और ब्रिटेन 5वें स्थान पर था. लेकिन, बढ़ती महंगाई के कारण ब्रिटेन सबसे बड़ी अर्थववस्था की लिस्ट में 5वें स्थान से 6वें स्थान पर पंहुचा गया है.

बता दें मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस साल ब्रिटेन की करेंसी ‘पाउंड’ में भारतीय करेंसी ‘रुपए’ के मुकाबले 8 फीसदी की गिरावट रही. रुपए की तुलना में पाउंड ने भी डॉलर के मुकाबले कमजोर प्रदर्शन किया. यह गिरावट साल 1709 के बाद की सबसे बड़ी है.

बीते कुछ सालों में भारत की लंबी छलांग…

अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के सकल घरेलू उत्पाद के आंकड़ों के अनुसार, भारत ने पहली तिमाही में बढ़त हासिल कर ली है. हालांकि, इस समय दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश अमेरिका है. जबकि दूसरे नंबर पर चीन और फिर जापान व जर्मनी का नंबर है. बीते 10 सालों में भारतीय इकोनॉमी 11वें पायदान से 5वें स्थान तक का सफर तय किया है. भारत ने यह कारनामा दूसरी बार किया है. इससे पहले भारत ने साल 2019 में भी ब्रिटेन को 6वें नंबर पर धकेलकर 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बना था. हालांकि, साल 2020 में कोरोना महामारी आने के बाद दुनिया के कई देशों की आर्थिक हालात बदतर हो गई थी. भारत में कोरोना महामारी खासा असर देखने को मिला था. भारत में उद्योग धंधे एकदम से चौपट हो गए थे. लाखों लोगों की नौकरियां चली गई थी.

जीडीपी में चीन को पीछे छोड़ा…

अगर पड़ोसी देश चीन की बात करें तो वह भी भारत की ग्रोथ रेट के आसपास नहीं है. चीन की पहली तिमाही में ग्रोथ रेट 0.4 फीसदी रही है. खास बात है कि चीन दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश की सूची में दूसरे पायदान पर है. इसके बावजूद चीन की अप्रैल-जून की तिमाही में भारत के मुकाबले ग्रोथ रेट बहुत ही कम है. भारत की अप्रैल-जून की तिमाही में 13.5 फीसदी ग्रोथ रेट रही है.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More