विकसित देश बनने का लक्ष्य मुश्किल नहीं : पीएम मोदी

0 183

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भारतीय जनता पार्टी सदस्यता अभियान का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी के लक्ष्य के बारे में बताते हुए कहा, ‘अंग्रेजी में एक कहावत होती है कि size of the cake matters यानि जितना बड़ा केक होगा उसका उतना ही बड़ा हिस्सा लोगों को मिलेगा। इसलिए हमने भारत की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था बनाने पर जोर दिया है।’

पीएम मोदी के भाषण के महत्वपूर्ण अंश-

पीएम ने कहा, ‘आखिर 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी के लक्ष्य का मतलब क्या है, एक आम भारतीय की जिंदगी का इससे क्या लेना-देना है, ये आपके लिए, सबके लिए जानना बहुत जरूरी है।’

आज देश खाने-पीने के मामले में आत्मनिर्भर है, तो इसके पीछे सिर्फ और सिर्फ देश के किसानों का पसीना है, सतत परिश्रम है।

प्रति व्यक्ति आय बढ़ेगी तो विकास होगा। आय बढे़गी तो खर्च बढ़ेगा और मांग बढ़ेगी, मांग बढ़ेगी तो उत्पादन भी बढ़ेगा और सर्वांगीण विकास होगा।

विकास की एक और ज़रूरी शर्त है पानी। इसलिए जल संरक्षण और जल संचयन के लिए पूरे देश को एकजुट होकर खड़ा करने की कोशिश की जा रही है।

स्वस्थ भारत बनाने के लिए आयुष्मान भारत योजना भी बहुत मददगार सिद्ध हो रही है। देश के करीब 50 करोड़ गरीबों को हर वर्ष 5 लाख रुपए तक मुफ्त इलाज सुनिश्चित हो रहा है।

अब तक लगभग 32 लाख गरीब मरीज़ों को अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना का लाभ मिल चुका है।

बिजली से चलने वाली गाड़ियां बनाने, खरीदने और इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए भी प्रोत्साहन दिया जा रहा है। Electric Vehicle बनाने वालों को टैक्स में छूट दी गई है।

जनता की ताकत असंभव को संभव बना सकती है। याद करिए, एक समय था जब देश अनाज के संकट से जूझता था। लेकिन उसी दौर में शास्त्री जी ने जय जवान-जय किसान का आह्वान किया और देश के किसानों ने अनाज के भंडार भर दिए।

आखिर क्यों हमारा देश बाहर से, खाने वाला तेल मंगवाए? मैं जानता हूं, अगर देश का किसान ठान ले, अपनी जमीन के दसवें हिस्से को भी तिलहन के लिए समर्पित कर दें, तो तेल आयात में बहुत बड़ा फर्क आ जाएगा।

यह भी पढ़ें: पुराने वादों का दोहराव और ‘नई बोतल में पुरानी शराब’ है बजट : कांग्रेस

यह भी पढ़ें: आकाश विजयवर्गीय पर बरसे पीएम मोदी, कहा – पार्टी से निकाल देना चाहिए

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More