100-100 रूपये में तालिबान बेच रहा अफगानी औरतों-लड़कियों को ? क्या है वायरल वीडियो का सच…

0 5,161

तालिबान ने अफगानिस्तान पर पूरी तरह से अपना वर्चस्व कायम कर लिया है। तालिबानी कब्जे के बाद से ही बड़ी संख्या में लोग देश छोड़कर बाहर जाने की कोशिश में हैं। तालिबान के कब्जे के बाद वहां पर आम लोगों के लिए जीना मुश्किल हो गया है।

तालिबानी राज में महिलाओं में एक अजीब सा डर फिर पैदा हो गया है। अफगानिस्तान में तालिबान की वापसी का खौफ कितना खतरनाक है। उस वक्त महिलाओं खासतौर से युवा लड़कियों के साथ बहुत अत्याचार हुआ।

अफगानिस्तान में बढ़ते संघर्ष के बीच सोशल मीडिया पर ढेर सारी फोटोज और वीडियोज वायरल हो रहे है। कई वीडियोज में महिलाओं पर अत्याचार होते दिखाई दे रहा है। दावा किया जा रहा है कि यह अफगानिस्तान के वीडियो हैं।

सोशल मीडिया पर वायरल यह वीडियो-

एक ऐसा ही वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया जा रहा है कि अफगानिस्तान में तालिबानी लोग महिलाओं की बोलियां लगा रहे हैं। वीडियो में कुछ शख्स सड़क के बीचों-बीच महिलाओं की बोली लगाते हुए दिख रहे हैं।

यह वीडियो फेसबुक और ट्वीटर सहित कई प्लेटफॉर्मस पर लगातार शेयर किया जा रहा है। फेसबुक पर एक यूज़र ने इसे शेयर करते हुए कैप्शन दिया ‘100, 100 रूपये में तालिबान, अफगान औरतों, लड़कियों को बेच रहा… ले जाओ कुछ भी करो,दुनिया के सारे मुस्लिम चुप…।’

fb post

फेक है यह वीडियो-

कई मीडिया पोर्टलों ने वीडियो का फैक्ट चेक किया तो सच्चाई सामने आई। वीडियो वास्तव में 2014 में कुर्द समर्थकों द्वारा लंदन में आयोजित एक नुक्कड़ नाटक का है, ये नाटक आईएसआईएस के अत्याचारों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए किया गया था।

अफगानिस्तान में बढ़ते संघर्ष के कारण सोशल मीडिया पर ढेर सारी गलत सूचनाओं को साझा किया जा रहा है। ऐसे में निवेदन है कि किसी भी वायरल मैसेज पर आंख मूंदकर भरोसा न करें। विश्वसनीय स्रोतों से मिली जानकारी पर ही भरोसा करें।

यह भी पढ़ें: अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद तालिबान ने दुनिया से मान्यता देने की मांग, कहा- किसी को नहीं पहुंचाएंगे नुकसान

यह भी पढ़ें: अफगानिस्तान के हालात के लिए ट्रंप ने बाइडन को जिम्मेदार ठहराया, पूछा- मैं याद आ रहा हूं?

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More