राधा अष्‍टमी से अगले 16 दिन कर लें ये काम, ​होगी पैसों की बरसात…

0 302

कृष्‍ण जन्‍माष्‍टमी के ठीक 15 दिन बाद राधा अष्‍टमी मनाई जाती है। भाद्र मास के शुक्‍ल पक्ष की अष्‍टमी को राधाष्‍टमी के रूप में मनाया जाता है।

इस साल 14 सितंबर को बृजवासी राधारानी के जन्‍मोत्‍सव के रूप में मनाया जा रहा है। राधाष्‍टमी का पौराणिक महत्‍व बहुत खास माना गया है।

कुछ जगहों पर राधाष्‍टमी के दिन राधाजी के साथ ही मां लक्ष्‍मी की भी पूजा की जाती है। ऐसा करने से मां लक्ष्‍मी आपसे प्रसन्‍न होती हैं और आपका घर धन संपदा से भर देती हैं।

krishna

यह भी माना जाता है कि राधाष्‍टमी से लेकर अगले 10 दिन तक कुछ विशेष कार्यों को करने और जप तप करने से आपके घर में खुशहाली आती है और मां लक्ष्‍मी का वास होता है।

तो चलिए जानते है कौन से है वो काम जिसे करने से राधारानी के साथ साथ मां लक्ष्मी और श्रीकृष्ण को प्रसन्न किया जा सकता है।

राधा रानी का यह पाठ माना जाता है शुभ

radha-ashtami-2021

राधाष्‍टमी से अगले 16 दिन राधा के स्तोत्र या राधा सहस्रनाम स्तोत्र का पाठ करने से कान्‍हाजी के साथ ही लक्ष्‍मी स्‍वरूप मां लक्ष्‍मी भी प्रसन्‍न होती हैं।

सुरैया पर्व

lakshmi maa

राधाष्टमी से सुरैया पर्व का आरंभ होता है जो 16 दिनों तक चलता है। इसमें देवी लक्ष्मी के स्तोत्र का पाठ करना चाहिए।

साथ ही इन 16 दिनों के बीच में पड़ने वाले शुक्रवार को मां लक्ष्‍मी को केसर की खीर का भोग लगाना चाहिए। इससे आपके घर में आनंद की प्राप्ति होती है।

इस तरह से करें पूजा

radha rani

राधाष्‍टमी से अगले 16 दिन तक देवी राधा और भगवान श्रीकृष्ण की युगल मूर्ति की पूजा करें। देवी राधा को सुहाग सामग्री भेंट करें और राधा कृष्ण नाम का यथसंभव जप करें।

कुबेर जी की पूजा

kuber

सुरैया पर्व को यक्ष और यक्षिणी साधना का भी समय कहा जाता है। भगवान कुबेर को यक्षराज कहा जाता है। यह धन के स्वामी हैं।

सुरैया पर्व के दौरान यक्ष राज कुबेर की नियमित पूजा करें। राधाष्टमी के दिन कुबेर यंत्र और श्रीयंत्र की स्थापना करके नियमित इनकी पूजा करें।

यह भी पढ़ें: श्रीकृष्ण जन्माष्टमी को ‘मनहूस’ मानती है यहां की पुलिस, इस वजह से नहीं मनाती यह त्योहार

यह भी पढ़ें: अनोखा है कानपुर का जगन्नाथ मंदिर, गर्भगृह में लगा चमत्कारी पत्थर करता है ‘भविष्यवाणी’

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More