शालीमार बाग स्थित मैक्स अस्पताल का लाइसेंस रद्द

0 202

दिल्ली के शालीमार बाग के मैक्स हॉस्पिटल का लाइसेंस रद्द कर दिया गया है। दिल्ली सरकार ने इस मामले में जांच रिपोर्ट आने के बाद यह कड़ा फैसला लिया है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि हॉस्पिटल द्वारा नवजात को मृत बताए जाने की घटना को एकदम स्वीकारा नहीं जा सकता है।

Also Read: माफिया उसे सड़क पर दौड़ाते रहे और…

जिंदा नवजात को मृत बताकर घरवालों को सौपा

रिपोर्ट के मुताबिक एक दिन पूर्व ही 22 हफ़्ते के जिंदा नवजात को मृत बताकर माता-पिता को सौंपने के मामले में दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन मैक्स अस्पताल और डॉक्टरों के पक्ष में आकर खड़ा हो गया था। दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ने बयान जारी करके कहा था कि ‘समय से पहले होने वाली ऐसी डिलीवरी के लिए कोई प्रोटोकॉल या गाइडलाइंस नहीं है। लेकिन भारत का कानून 20 हफ़्ते तक गर्भपात की इजाज़त देता है और कुछ ज़्यादा गंभीर मामलों में 24 हफ़्ते में गर्भपात की इजाज़त अदालत ने दी है यानी भारतीय कानून भी 24 हफ्ते तक के भ्रूण को ज़िंदा ना बचने लायक मानता है।

Also Read: कैंसर से जूझ रही मां के लिए बेटे ने स्काइप के जरिए रचाई शादी

24 हफ्ते के भ्रूण की बचने की कम उम्मीद

दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन दरअसल डॉक्टरों की संस्था इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की दिल्ली यूनिट है। दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ने कहा कि ‘समय से पहले होने वाली दिल्ली के एक अस्पताल में डिलीवरी के हाल के विवाद में हम कहना चाहते हैं कि 24 हफ्ते से कम के भ्रूण के बचने की उम्मीद नहीं होती हैं। कई बार hypothermia के चलते दिल की धड़कन नहीं पता चल पाती या लौट आती है। ऐसे कुछ गिने चुने मामले दुनिया मे कई जगह सामने आए जिसमें जून का सफदरजंग का मामला भी शामिल है।

Also Read: फैमली के साथ इटली के लिए रवाना हुईं अनुष्का, कोहली से होगी शादी ?

मेडिकल एसोसिएशन ने कहा ये

दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ने कहा कि वक्त आ गया है कि मीडिया, अफसर,नेता और समाज सॉफ्ट टारगेट ‘डॉक्टरों’ पर किसी भी अनचाही घटना के दोष मढ़ना बंद करें और डॉक्टरी पेशे को बदनाम ना करें। डॉ. वो हर कोशिश करके अपने मरीज को बचाना चाहते हैं ना की उनको मारना।

साभार: (NDTV NEWS)

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More