VIDEO : शहीद की पत्नी ने हथेली पर चलते हुए किया गृह प्रवेश

0 279

मध्य प्रदेश के इंदौर में एक शहीद की पत्नी का गृह प्रवेश हुआ। यह गृह प्रवेश हर लिहाज से बेहद अलग था। यहां गांव के युवाओं की हथेली पर पैर रखते हुए शहीद की पत्नी ने अपने नए घर में प्रवेश किया। इसके अलावा जिस घर में शहीद की पत्नी ने गृह प्रवेश​ किया वह बेटमा गांव के युवकों ने उन्हें गिफ्ट किया था।

1992 में बीएसएफ जवान मोहन सिंह शहीद हो गए थे। जब मोहन सिंह शहीद हुए थे तो उनका तीन साल का बेटा था। उस वक्त उनकी पत्नी गर्भवती थी। शहादत के बाद शहीद की पत्नी ने किसी तरह बच्चों का पालन-पोषण किया।

देखें, गृह प्रवेश का वीडियो-

10 लाख रुपये की आई लागत-

शहीद का परिवार एक टूटे-फूटे घर में रहता था। घर की छत भी टूट चुकी थी। यहां तक की सरकार की ओर से भी परिजनों को कोई सहायता नहीं मिली। परिवार की हालत को देखते हुए गांव के युवाओं ने घर मुहैया कराने के लिए ‘एक चेक, एक दस्तखत’ अभियान चलाया।

अभियान से जुड़े विशाल राठी का कहना है, ‘हमने शहीद की विधवा के लिए 11 लाख रुपये इकट्ठा किए। रक्षाबंधन और स्वतंत्रता दिवस के मौके पर हमने मकान की चाबी उन्हें सौंप दी।’ उन्होंने बताया कि मकान पर 10 लाख रुपये की लागत आई है।

यह भी पढ़ें: अभिनंदन को मारने के लिए पाकिस्तान ने रची थी ये साजिश!

यह भी पढ़ें: सुरक्षाबलों ने बड़ी कामयाबी, मारा गया पुलवामा हमले का साजिशकर्ता

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More