पुलिस पर हमला, एक महिला पुलिसकर्मी की मौत, आधा दर्जन जख्मी

0 1,045

बिहार के जहानाबाद में भीड़ के उग्र होने से 1 महिला पुलिसकर्मी की मौत का मामला सामने आया है। गोविंद मांझी को मध निषेध में गिरफ़्तार किया गया था जिसकी हिरासत में मौत हो गई। इसके विरोध में प्रदर्शन कर रही भीड़ उग्र हो गई।

पुलिस ने बताया कि  इसमें एक महिला सिपाही की मौत हुई है जबकी 7-8 कर्मी घायल हुए हैं। पुलिस ने बताया कि महिला पुलिसकर्मी की मृत्यु भागते हुए किसी वाहन की चपेट में आने से हुई है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। मामले में 4-5 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है।

क्या है पूरा मामला-

jehanabad news

बताया जाता है कि परस बीघा थाना के सरसा निवासी गोविंद मांझी को शराब मामले में पुलिस ने 19 जुलाई को गिरफ्तार किया था। उसे औरंगाबाद जिले के दाउदनगर उपकारा में रखा गया था। वहां देर रात उसकी मौत हो गई।

गोविंद मांझी की मौत की सूचना मिलने के बाद ग्रामीणों ने निहालपुर के समीप एनएच 110 को जाम कर दिया। परिजनों का कहना है कि इलाज में कोताही बरतने कारण ही गोविंद मांझी की मौत हुई है।

जाम की सूचना मिलने पर नगर थाने के साथ-साथ परसविगहा और शकूराबाद थाने की पुलिस पहुंची। यहां सड़क जाम कर रही भीड़ अचानक उग्र हो गई और पुलिस पर हमला शुरू कर दिया।

उलटे पांव भागना पड़ा पुलिस को-

jehanabad news

उग्र भीड़ ने रोड़ेबाजी के साथ फायरिंग भी की गई। पुलिस को वहां से भागना पड़ा। उग्र लोगों ने पुलिस की गाड़ी को भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्‍त कर दिया। इलाके को छावनी में तब्‍दील कर दिया गया है। महिला हवलदार खगड़‍िया जिले की रहने वाली थीं।

यह भी पढ़ें: लापरवाह पुलिसकर्मी को सबक सिखाने खुद थाने पहुंचे SSP साहब, मचा हड़कंप; जानें पूरा मामला

यह भी पढ़ें: पुलिस विभाग में बड़े फेरबदल की तैयारी, तीन साल से एक ही जगह जमे पुलिसवालों का होगा ट्रांसफर

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More