पूर्वांचल की जिन कोठियों से चलती थी बाहुबलियों की हुकूमत, वहाँ गरज रहे हैं योगी के ‘बुलडोजर’ !

0 371

वाराणसी। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार का मिशन माफिया का असर दिखने लगा है। पूर्वांचल की जिन कोठियों से माफियाओं की हुकूमत चलती थी, अब वहाँ बुलडोजर गरज रहे हैं। बाहुबलियों का वर्चस्व तोड़ने के लिये अब उनकी काली कमाई को कुर्क किया जा रहा है। आलम ये है की वाराणसी जोन में अब तक अलग-अलग माफियाओं के कारवाई करते हुये प्रशासन ने 103 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क की है।

पुलिस का ऑपरेशन गैंगस्टर

पूर्वांचल को अपराधमुक्त बनाने के लिये पुलिस ने मुहिम छेड़ रखी है। इसी के तहत पुलिस ने ऑपरेशन गैंगस्टर चलाया है। इसके तहत अब तक 1793 अपराधियों पर कार्रवाई हो चुकी है। इसके अलावा अपराधियों की 103 करोड़ की प्रॉपर्टी कुर्क हो चुकी है। वाराणसी जोन में ये अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है। पुलिस के रडार पर मुख्तार अंसारी के अलावा मुन्ना बजरंगी गुट से जुड़े अपराधी हैं। पुलिस ने झुन्ना पण्डित के अलावा अभिषेक सिंह हनी के साथ कुछ और बड़े शूटरो पर कारवाई की है।

पुलिस की हिटलिस्ट में मुख्तार अंसारी

पूर्वांचल का माफिया तंत्र और एक बड़ा नाम मुख्तार अंसारी पुलिस की हिट लिस्ट में है। मुख्तार के गुर्गों के साथ उसके करीबियों पर पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है। मुख्तार अंसारी की लगभग 125 करोड़ की अवैध संपत्ति पर कार्रवाई हो चुकी है और आगे भी कार्रवाई होनी है। वाराणसी के एडीजी जोन बृज भूषण का दावा है कि पूर्वांचल का माहौल क्राइम फ्री होगा और क्रिमिनल की कमर पुलिस तोड़ेगी, उन्हें नहीं छोड़ेगी। माफिया मुख्तार अंसारी की काली कमाई का सिर्फ एक जरिया नहीं था। मछली का कारोबार ,कोयला व्यवसाय, अवैध तरीके से जमीन पर कब्जा और अवैध शस्त्र लाइसेंस के साथ ठेकों पर कब्जा, अवैध स्लाटर हाउस ये सब मुख्तार के धंधे थे। इन सबसे जुड़कर मुख्तार पूर्वांचल का बाहुबली बना। गुर्गे घटना को अंजाम देते रहे और माफिया की दहशत बढ़ती रही। प्रदेश में योगी सरकार बनने से पहले मुख्यमंत्री ने ये ऐलान किया था कि अपराधी अब हंसते जेल नहीं जाएंगे।

कैन्सिल किये जा रहे हैं असलहों के लाईसेंस

मुख्यमंत्री योगी की पुलिस अब क्राइम और क्रिमिनल को लेकर कमर कस चुकी है। पहले सलीम मछली वाले की गिरफ्तारी की गई। फिर नन्हे खान पर कार्रवाई हुई। फिलहाल पुलिस को मुख्तार और बजरंगी के खास रहे मेराज की तलाश है। शस्त्र लाइसेंस पर गौर करें तो अभी 100 लोगों के अवैध लाइसेंस रद्द किए गए हैं। मुख्तार के 12 करीबियों को जिला बदर किया है। 85 को गैंगस्टर में बन्द कर दिया है, 990 की हिस्ट्रीशीट खोली है और 150 गैंगों को रजिस्टर किया गया है।

यह भी पढ़ें: कृषि उपकरण जलाकर किसानों का अपमान कर रहा विपक्ष : प्रधानमंत्री मोदी

यह भी पढ़ें: यूपी की सात विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की घोषणा, मतदान तीन नवंबर को

यह भी पढ़ें: World Heart Day 2020 : इन तरीकों से रखें हार्ट का ख्याल

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)
Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More