‘आप सरकार’ खोज रही राज्यसभा चुनाव में मोदी विरोधी चेहरा

0 155

दिल्ली से राज्य सभा चुनाव की तीन सीटों को भरने के लिए शुक्रवार (29 दिसंबर) से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। मगर दिल्ली विधान सभा में बहुमत वाली आम आदमी पार्टी (आप) को योग्य उम्मीदवार नहीं मिल पा रहा है। यह तय है कि पार्टी जिसे चुनाव में खड़ा करेगी उसका संसद पहुंचना लगभग तय है। इस बीच, पार्टी नेता कुमार विश्वास के समर्थक उन्हें उम्मीदवार बनाने के लिए हंगामा और विरोध-प्रदर्शन करते नजर आए। विश्वास के समर्थकों ने शुक्रवार को पार्टी दफ्तर में चार घंटे तक हंगामा किया। सूत्र बताते हैं कि पार्टी कुमार विश्वास पर पार्टी विश्वास नहीं है। लिहाजा, बाहरी उम्मीदवारों की ओर टकटकी लगाए बैठी है।

 Also Read : शर्मनाक ! ‘आधार कार्ड’ ने छीन ली शहीद की पत्नी की जिंदगी

आप ने दिया रघुराम राजन को ऑफर

आम आदमी पार्टी चाहती है कि संसद के ऊपरी सदन में कुछ पेशेवर लोगों को भेजा जाय या फिर ऐसे राजनीतिक चेहरे को भेजा जाय जो पीएम नरेंद्र मोदी के मुखर विरोधी रहे हैं। इसी क्रम में आप ने पहले पूर्व आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन को ऑफर दिया लेकिन उन्होंने इसे ठुकरा दिया। इसके बाद चर्चा है कि आप ने पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस टी एस ठाकुर से भी संपर्क किया लेकिन उन्होंने भी इनकार कर दिया।

also read : परिवार के लिए नौकरी छोड़ संवारी सैकड़ों बच्चों की ज़िंदगी

कोई नया चेहरा नहीं मिल रहा ‘आप सरकार’ को

आप ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी से भी संपर्क किया लेकिन इन लोगों ने भी इनकार कर दिया। आप संयोजक द्वारा इंफोसिस के संस्थापक एम नारायणमूर्ति, नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी और उद्योगपति सुनील मुंजाल से भी संपर्क करने की चर्चा है मगर सभी ने मना कर दिया। माना जाता है कि आप की अंदरूनी कलह, केंद्र और एलजी से होने वाले टकराव और पार्टी की गिरती साख की वजह से इन लोगों ने केजरीवाल का ऑफर ठुकरा दिया। सूत्रों के मुताबिक अगले हफ्ते पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा करने के बाद ऐलान करेगी।

साभार: ( जनसत्ता )

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More