भूटान पहुंचे पीएम मोदी, दोनों देशों के बीच 10 करार होने की संभावना

0 259

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूटान की दो दिवसीय यात्रा पर हैं। पड़ोसी प्रथम की नीति के तहत भारत भूटान में कई आधारभूत संरचनाओं के निर्माण में सहयोग दे रहा है।

प्रधानमंत्री की इस यात्रा में दोनों के देशों के बीच कुल 10 सहमति पत्र और समझौतों पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद है। इसके साथ ही पीएम भूटान में रुपे कार्ड और भीम एप की भी शुरुआत करेंगे।

यात्रा से पहली बोले पीएम मोदी-

यात्रा से पहले पीएम ने अपने बयान में दोनों देशों के बीच सार्थक वार्ता की उम्मीद जतायी। पीएम ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि यात्रा पुरानी दोस्ती को और मजबूत करेगी।

मई 2019 में एक बार फिर प्रधानमंत्री पद की कमान संभालने के बाद अपनी दूसरी विदेश यात्रा पर पीएम मोदी भूटान की यात्रा पर हैं। प्रधानमंत्री 17 अगस्त को भूटान पहुंच वहां के नरेश जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक से मुलाकात करेंगे।

रॉयल यूनिवर्सिटी को करेंगे संबोधित-

पड़ोसी पहले की नीति के तहत भारत भूटान में कई आधारभूत संरचनाओं के निर्माण में सहयोग दे रहा है। ऐसी ही एक परियोजना मांगदेछू की है जो पनबिजली परियोजना है और ये ऊर्जा ज़रूरतो के मद्देनज़र अहम है। प्रधानमंत्री इसका उद्घाटन भी करेंगे।

यात्रा के दौरान मोदी भूटान की रॉयल यूनिवर्सिटी को भी संबोधित करेंगे। भूटान से बड़ी संख्या में छात्र पढ़ने के लिए भारत आते है। उम्मीद की जा रही है कि भूटान की रॉयल यूनिवर्सिटी के पढ़ाई को लेकर सहमति पत्र सहित समझौते भी हो सकते है।

10 समझौतों की उम्मीद-

इस बार प्रधानमंत्री की इस दो दिवसीय यात्रा में दोनों के देशों के बीच कुल 10 सहमति पत्र और समझौतों पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद है।

भारत के साथ विकास कार्यों की साझेदारी द्विपक्षीय संबंधों का बड़ा पहलू है। भारत ने पिछले साल दिसंबर में भूटान की 12वीं पंचवर्षीय योजना में सहायता के लिए करीब 5,000 करोड़ रुपये की प्रतिबद्धता जताई थी। इसकी पहली किस्त जारी भी कर दी गई।

यह भी पढ़ें: चीनी विदेश मंत्री से मिले जयशंकर, कहा- द्विपक्षीय मतभेदों पर न हो विवाद

यह भी पढ़ें: SCO समिट में PM मोदी ने पाकिस्तान को किया बेनकाब, इमरान खान रहे मौजूद

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More