तेजी से बदल रही महाराष्ट्र राजनीति की तस्‍वीर,10 पॉइंट्स में जानिए जाएगी या बचेगी उद्धव सरकार?

0 42

इन दिनों महाराष्ट्र की राजनीति में घमासान मचा हुआ है. शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे की वजह से सीएम उद्धव ठाकरे काफी परेशान हैं. दरअसल, एकनाथ शिंदे का दावा है कि उनके साथ कम से कम 40 विधायक हैं. साथ ही कई और विधायक भी उनके खेमे में शामिल हो सकते हैं. सारे बागी विधायकों को रातोंरात सूरत से गुवाहाटी भेज दिया गया. महा विकास अघाड़ी सरकार के तीनों मुख्य सहयोगी एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना अलग-अलग बैठकें करने वाले हैं. लेकिन, फिलहाल सुलह के संकेत नहीं मिल रहे हैं. ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या उद्धव सरकार जाएगी या बचेगी?

Maharashtra Government: Names Finalized For Cabinet Expansion | : गृह आणि  नगरविकास एकनाथ शिंदे यांच्याकडे; 'ठाकरे सरकार'चं खातेवाटप ठरलं! | Lokmat.com

इन 10 पॉइंट्स में जानें

1- शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र के 40 विधायक उनके साथ असम के गुवाहाटी आए हैं और वे सभी, पार्टी के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे की ‘हिंदुत्व’ विचारधारा के लिए प्रतिबद्ध हैं. उन्होंने कहा कि 40 विधायक उनके साथ आए हैं लेकिन वह किसी पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं.

2- कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे इस्तीफा दे सकते है. इससे पहले शिवसेना के नेता संजय राउत ने संकेत दिए थे कि विधानसभा भंग की जा सकती है.

3- शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने अब से थोड़ी देर पहले दावा किया कि उनके पास 40 विधायकों का समर्थन है. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि 10 विधायक उनके साथ जल्द जुड़ सकते हैं. यह दावा उन्होंने समाचार एजेंसी भाषा से बातचीत करते हुए किया.

4- शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में महाराष्ट्र के 40 बागी विधायकों का एक समूह बुधवार सुबह गुवाहाटी पहुंचा. यहां उन्हें कड़ी सुरक्षा के बीच शहर के बाहरी इलाके में एक लग्ज़री होटल ले जाया गया है. हवाई अड्डे पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद पल्लब लोचन दास और सुशांत बोरगोहेन ने इन बागी विधायकों का स्वागत किया.

5- महाराष्ट्र के राजनीतिक घटनाक्रम को देखते हुए बीजेपी ने महाराष्ट्र के दो केंद्रीय मंत्रियों को तुरंत मुंबई बुलाया है. ये हैं पंचायती राज राज्यमंत्री कपिल मोरेश्वर पाटील और वित्त राज्य मंत्री डॉ. भागवत किशनराव कराड.

कौन हैं Eknath Shinde, जिन्होंने महाराष्ट्र की सियासत में मचा दी है  उथल-पुथल ?

6- महाराष्ट्र कांग्रेस पर्यवेक्षक और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा, ‘आज देश में सौदे की राजनीति हो रही है. मध्य प्रदेश का उदाहरण आप जानते हैं. ये राजनीति हमारे संविधान के विपरीत है और भविष्य के लिए खतरे की बात है. शिवसेना को खुद तय करना है कि वे अपने विधायकों से कैसे बात करेंगे. कांग्रेस के विधायक बिकाऊ नहीं हैं.’

7- शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे के महाराष्ट्र के कुछ बागी विधायकों के साथ गुवाहाटी चले जाने के बीच पार्टी सांसद संजय राउत ने बुधवार को कहा कि वह शिंदे के साथ संवाद कर रहे हैं और अभी तक हुई बातचीत ‘‘सकारात्मक’’ रही है. राउत ने विश्वास जताया कि शिंदे तथा अन्य बागी विधायक पार्टी के साथ आ जाएंगे.

8- एकनाथ शिंदे ने कहा ‘हम लोग शिव सेना में है हम बालासाहेब के शिवसैनिक हैं. हम उनकी हिंदुत्व की लाइन को फॉलो कर रहे है. हम उनके हिंदुत्व के एजेंडे को आगे लेकर जाएंगे.’

9- महाराष्ट्र में चल रहे सियासी संकट के बीच शिवसेना के विधायक प्रताप सरनाइक ने बुधवार को एक बार फिर कहा कि पार्टी को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ संबंधों को फिर से मजबूत करना चाहिए.

10- इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक MLC चुनाव के दौरान दो दिन पहले एकनाथ शिंदे की आदित्य ठाकरे और शिवसेना सांसद संजय राउत के साथ तीखी बहस हो गई थी. अखबार ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि शिवसेना कांग्रेस पार्टी के लिए एक्सट्रा वोट का इस्तेमाल करना चाहते थे. जिसका शिंदे ने विरोध किया.

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More