…तो इसलिए रेखा के पति ने की थी ‘आत्महत्या’

0 182

कहते है कि प्यार अधूरा होता है क्योंकि प्यार का पहला अक्षर ही अधूरा होता है। ऐसी ही एक अधूरे प्यार की दास्तान बॉलीवुड की दिलकश अदाकरा रेखा और शताब्दी के महानायक अमिताभ बच्चन की है। शायद ही कोई शख्स होगा जो इस लव स्टोरी से अछुता हो। आइये आपको बताते है इस प्रेम कहानी की कुछ दिलचस्प बाते।

read more :  आज ‘घोटाला मामले’ में सीबीआई के समक्ष ‘गैरहाजिर’ रहेंगे लालू

अक्सर ही दोनो ही किसी न किसी कार्यक्रम में आमना सामना हो ही जाता है लेकिन कभी अगर नजरें टकरा भी जाती है तो अनजान बन जाते है।मानो कुछ हुआ ही न हो। आखिर रेखा और अमिताभ एक-दूजे का सामना क्यों नहीं कर पाते हैं? दोनों के बीच में ऐसी कौन सी दीवार है, जो दोनों ने खड़ी कर रखी है। जिसके पार दोनों में से कोई नहीं जाना चाहता। अस्सी के दशक की सबसे चर्चित जोड़ी अमिताभ-रेखा आज उम्र के उस पायदान पर खड़े हैं जहां सारे गिले-शिकवे भूला दिये जाते हैं।लेकिन ना तो रेखा और ना ही अमिताभ, दोनों एक-दूसरे के बारे में कुछ कहते हैं।

राज बन कर रह गई रेखा के पति की सुसाइस की वजह

बॉलीवुड में अब तक रेखा के पति की सुसाइड की स्टोरी एक राज बनी हुई है। रेखा के अलावा ये कोई नहीं जानता कि आखिर उनके पति मुकेश अग्रवाल ने सुसाइड क्यों किया। हाल ही में लॉन्च हुई ऑटोबायोग्राफी रेखा : द अनटोल्ड स्टोरी में रेखा को लेकर कई खुलासे सामने आए है। जिनमें रेखा और उनके पति मुकेश अग्रवाल के मध्य संबधो का भी जिक्र किया गया है। यासेर उस्मान की इस बुक में रेखा की मैरिड लाइफ का भी जिक्र किया गया है।इसमें बताया गया है कि क्यों रेखा वे अपने पति मुकेश अग्रवाल से दूरी बनाई और शादी के एक साल के बाद ही मुकेश ने मौत को गले लगा लिया। और इसका जिम्मेदार रेखा को ही बताया गया।रेखा ने दिल्ली के मशहूर बिजनेसमैन मुकेश अग्रवाल संग शादी की थी। शादी के बाद वे और मुकेश लंदन में बस गए।

read more :  .. लेकिन पढ़ाई के आड़े नहीं आते आंसू

मुकेश एक ही दिन में कई दवाइंया लेते थे

हर शादीशुदा जिंदगी की तरह इनके भी शुरुआती दिन बेहतर निकले। क्योंकि मुकेश और रेखा पहली बार एक-दुसरे के साथ इतना वक्त साथ में बीता रहे थे। लेकिन कुछ समय बाद रेखा को यह अहसास होने लग गया था कि वे और मुकेश एक दुसरे से बेहद अलग है। रेखा को इस बात से बड़ी हैरानी थी कि मुकेश एक ही दिन में कई दवाइंया लेते थे।

बेडरूम में सीलिंग फेन से लटककर जान दे दी

लेकिन रेखा नें जिंदगीभर का साथ निभाने जैसा सोचकर इन बातों को नजरअंदाज करना बेहतर माना।शादी के बाद रेखा के लिए ये तीन महिने का समय काफी भयावह था। उन्होंने कुछ वक्त निकाला और चीजों को समझनें की कोशिश की। लेकिन जब उन्हें लगा कि सिचुएशन को समझ पाना मुश्किल है तो उन्होंने मुकेश और उनकी फैमिली से दूरी बनानी शुरु कर दी। इतना ही नहीं उन्होंने मुकेश के फोन रिसीव करना भी बंद कर दिए। डिप्रेशन में चल रहे मुकेश के लिए ये किसी झटके से कम नहीं था। रेखा और मुकेश से जुडी इन बातों की मीडिया में खबर आने लगी। किसी ने लिखा, ‘रेखा एक्सपोज्ड’ तो किसी ने
और फिर एक दिन मुकेश ने अपने बेडरूम में सीलिंग फेन से लटककर जान दे दी।

read more :  स्कॉटलैंड में सैकड़ों बच्चों की सामूहिक कब्रें मिलीं

कई जगहों पर तो पोस्टर्स पर गोबर भी फेंका गया

रेखा और जीतेन्द्र स्टारर फिल्म शेषनाग रिलीज होने के कुछ दिनों बाद ही मुकेश अग्रवाल की सुसाइड की खबर आ गई। जो उन दिनों सुर्खियों में रही। इस दौरान लोगों ने शेषनाग के पोस्टर्स में रेखा के चेहरे पर कालिख पोतनी शुरु कर दी। कई जगहों पर तो पोस्टर्स पर गोबर भी फेंका गया। उनकी छवि को खराब करनें की पूरी कोशिश की गई।मीडिया में मुकेश की सुसाइड स्टोरिज को आपतिजनक हेडलाइंस के साथ पेश करना शुरु कर दिया।

मेरी जिंदगी में भी एक अमिताभ है

मैगजीन के नवंबर 1990 के अंक में ‘द ब्लैक विडो’ टाइटल दिया गया तो वहीं, एक पत्रिका में ने हेडलाइन दी, ‘द मकैब्रे ट्रुथ बिहाइंड मुकेश सुसाइड’।दोनों लंदन में काफी सप्ताह तक एक साथ रहे। रेखा अब समझनें लग गई थी कि कुछ तो है जो मुकेश को परेशान कर रहा है। और फिर एक दिन मुकेश ने उदास मन से रेखा की आंखो में देखा और कहा, मेरी जिंदगी में भी एक अमिताभ है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More