इन आतंकियों के निशाने पर थे तारिक फतह

0 285

आतंकवाद की जड़े अब धीरे-धीरे उत्तर प्रदेश में भी पहुंचने लगी हैं। आए दिन किसी न किसी संदिग्ध का पकड़ा जाना इस बात की तरफ इशारा करता है कि IS अपना मकड़जाल फैलाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। मालूम हो कि हाल ही में पकड़े गए IS के चार संदिग्ध आतंकियों ने एटीएस को बताया कि कनाडाई लेखक तारिक फतह की हत्या के फिराक में थे।

बता दें कि यूपी एटीएस ने पांच राज्यों की पुलिस के साथ मिलकर इन चारों आतंकियों को अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार किया था। जिसमें मिलकर नजीम शमशाद उर्फ उमर, जीशान उर्फ गाजी बाबा, फैजान उर्फ मुफ्ती और एहतेशाम को क्रमश: मुंबई, पंजाब, बिजनौर, यूपी और बिहार से गिरफ्तार किया। शुक्रवार को फैजान और एहतेशाम को अदालत के सामने पेश किया गया।

जिसके बाद उन दोनों को शनिवार तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। एटीएस आईजी असीम कुमार अरुण ने बताया कि इस समूह के सरगना उमर और जीशान को सोमवार को लखनऊ के स्थानीय अदालत में पेश किया गया जिन्हें कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया। उन्होंने कहा कि मंगलवार को एटीएस ने अदालत से दूसरे आरोपी की पुलिस हिरासत की मांग करेगा।

एटीएस अधिकारी ने बताया कि हमने पूछताछ से मिली जानकारियों को केंद्रीय एजेंसियों से साझा किया है। आरोपियों से पता चला है कि वो तारिक फतह पर हमला करने की योजना बना रहे थे। इसके अलावा वो मुंबई पुलिस के किसी पुलिस अधिकारी को भी मारना चाहते थे।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि पूछताछ के दौरान फैजान ने बताया कि वो लोग  विस्फोटक और हथियार खरीदने के लिए मुंबई के एक युवक के संपर्क में थे। इसके लिए पैसे भी दे दिए गए थे लेकिन वो युवक माल भेजने में नाकामयाब रहा।

अधिकारी ने बताया कि हमने फैजान से मिली सारी जानकारियों को मुंबई पुलिस को सौंप दिया है। इसके अलावा दोनों संदिग्धों ने पूछताछ के दौरान बताया कि वो हरिद्वार में भीड़भाड़ वाले बाजार या मेले को निशाना बनाने की योजना बना रहे थे। इसके अलावा उन्होंने देश के अन्य जगहों को भी निशाना बनाने की योजना बनाई थी।

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More