यूपी : बदली गई पूर्व सांसद धनंजय सिंह की जेल, नैनी से फतेहगढ़ किया गया ट्रांसफर

0 334

बहुजन समाज पार्टी के पूर्व सांसद और माफिया डॉन धनंजय सिंह को कड़ी सुरक्षा के बीच प्रयागराज के नैनी सेंट्रल जेल से फरुखाबाद के फतेहगढ़ सेंट्रल जेल में स्थानांतरित कर दिया गया है। उसने नैनी सेंट्रल जेल के अधिकारियों को पत्र लिखकर यहां उसकी जान को खतरा होने की सूचना दी थी। गुरुवार शाम को उन्हें एक जेल से दूसरे में भेजा गया।

गैंगस्टर अजीत सिंह की हत्या से जुड़े एक मामले में धनंजय सिंह काफी लंबे समय से फरार था। 2017 के मुकदमे की जमानत तोड़वा कर 5 मार्च को उसने प्रयागराज के एमएमएलए कोर्ट में खुद को सरेंडर किया। इस केस के सिलसिले में लखनऊ कोर्ट ने उसके खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया था।

जेल के अंदर हमले की आशंका-

सूत्रों ने कहा कि धनंजय ने अपने प्रतिद्वंद्वियों द्वारा जेल के अंदर उस पर हमले की आशंका जताई थी। उसने जेल अधिकारियों को पत्र लिखकर किसी और जेल में स्थानांतरित किए जाने का अनुरोध किया, जिसे मान लिया गया।

नैनी सेंट्रल जेल इस वक्त 68 कुख्यात अपराधियों का ठिकाना है। इनमें मुख्तार अंसारी के शार्पशूटर्स और अभय सिंह गिरोह के लोग भी शामिल हैं। ये दोनों ही धनंजय सिंह के प्रतिद्वंद्वी हैं।

जान का था खतरा-

फतेहगढ़ सेंट्रल जेल में धनंजय को सुनील राठी की संगति मिलेगी, जिसने बागपत जेल के अंदर मुन्ना बजरंगी की हत्या की थी। इसके अलावा, यह वाराणसी के माफिया डॉन सुभाष ठाकुर और दिलीप सिंह का भी ठिकाना है। इन्हें बसपा के पूर्व सासंद का ‘हितैषी’ माना जाता है।

इस बीच, लखनऊ पुलिस अजित सिंह की हत्या के सिलसिले में धनंजय से पूछताछ करने के लिए उसे रिमांड पर लेने की कोशिश कर रही है। धनंजय ने कथित तौर पर अजीत सिंह को खत्म करने की साजिश रची थी।

यह भी पढ़ें: पूर्व सांसद धनंजय सिंह की बढ़ी मुश्किलें, गैर जमानती वारंट जारी…

यह भी पढ़ें: मल्हनी के महाभारत में उतरेंगे बाहुबली धनंजय सिंह, निर्दलीय ठोकेंगे ताल

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More