कोरोना होगा बेदम,निगरानी समितियों की होगी महत्वपूर्ण भूमिका

0 424

प्रदेश को कोरोना मुक्त करने के संकल्प को पूरा करने के लिए ग्राउंड जीरो पर उतरे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को सिद्धार्थनगर पहुंचे। यहां जोगिया खास गांव के प्राथमिक विद्यालय में उन्होंने निगरानी समिति के सदस्यों से संवाद किया। समिति के सदस्यों को उत्साहित करते हुए उन्होंने बड़ी सहजता और आत्मीयता से समझाया, हम मिलकर कोरोना को बेदम करके ही रहेंगे। ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट का मंत्र गांव-गांव, घर-घर तक पहुंचाकर हम इसमें पूरी तरह सफल होंगे।

वार्ता के दौरान सीएम की बजाय मार्गदर्शक जैसे दिखे योगी

जोगिया खास गांव में मुख्यमंत्री ने बड़े ही इत्मिनान से निगरानी समिति के सदस्यों से बात की। इस दौरान उनकी बातें मुख्यमंत्री की बजाय गाइड जैसी थीं। उन्होंने आशा संगिनी व अन्य सदस्यों से उनके काम के बारे में पूछा। पल्स ऑक्सिमीटर, डिजिटल थरमामीटर आदि की उपलब्धता के साथ यह भी सवाल किया कि कितने लोगों की जांच कर दवाएं दी गई हैं। यह भी सुनिश्चित किया कि जिन लोगों को मेडिसिन किट दी गई है, उनसे डॉक्टर बात कर रहे हैं कि नहीं। मुख्यमंत्री ने सभी बिंदुओं पर जानकारी लेने के बाद समझाते हुए कहा कि गांव में हर घर तक पहुंच कर स्वास्थ्य की जांच होती रहे। जिन्हें सर्दी, बुखार जैसे लक्षण हों उनकी कोविड जांच कराई जाए और तुरंत आइसोलेट करते हुए मेडिसिन किट दी जाए। गांव में कोई बाहर से आए तो उसे घर पर ही क्वारन्टीन किया जाए। जिनके पास अलग से क्वारन्टीन की व्यवस्था नहीं है उन्हें प्राथमिक विद्यालय या किसी अन्य जगह क्वारन्टीन किया जाए।

कोरोना में अपने काम के साथ खुद को भी रखें सुरक्षित

सीएम ने कहा कि निगरानी समिति के लोग मास्क और ग्लव्स का इस्तेमाल करते हुए ही अपना कार्य करें। उन्होंने कहा कि प्रधान से समन्वय स्थापित करते हुए समिति के सदस्य गांव की साफ सफाई पर भी पूरा ध्यान दें। निगरानी समिति के बेहतर कार्य से ही गांव कोरोना मुक्त होंगे। सीएम ने समिति के कार्यों के संबंध में विस्तार से जानकारी ली, उत्साहवर्धन किया और घर-घर जाकर सबके स्वास्थ्य की जांच करते रहने का निर्देश दिया। कहा कि, जिस में भी लक्षण दिखें उन्हें आइसोलेशन की सलाह के साथ मेडिसिन किट उपलब्ध कराएं। सीएम ने कहा कि गांवों को कोरोना मुक्त कराने में निगरानी समितियों की बड़ी जिम्मेदारी है।

सिद्धार्थनगर दौरे के दौरान सीएम योगी जिला अस्पताल के कोविड टीकाकरण केंद्र पर पहुंचे। यहां उन्होंने टीकाकरण की प्रगति की जानकारी ली। खुद खड़े होकर एक बुजुर्ग को टीका लगवाया। मुख्यमंत्री ने टीका लगवाने आए लोगों से यह भी पूछा कि कोई दिक्कत तो नहीं है। उन्होंने कहा कि आप लोग दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें। टीका ही कोरोना से बचाव का सबसे कारगर उपाय है और सरकार सभी लोगों को मुफ्त टीका मुहैया करा रही है।

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार के 7 सालों में पेट्रोल 22 रुपये हुआ महंगा

इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर का निरीक्षण किया सीएम ने

सिद्धार्थनगर पहुंचने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सबसे पहले इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर का निरीक्षण किया। उन्होंने सेंटर पर बनाए गए सभी कॉउंटरों का एक-एक कर जायजा लिया। कॉउंटरों पर तैनात अधिकारी-कमर्चारियों से पूछताछ की। उन्होंने कहा कि आप सेवाभाव से काम करते रहें। हम टीम वर्क से वैश्विक महामारी कोरोना पर विजय पाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। मुख्यमंत्री ने मेडिसिन किट वितरण, रैपिड रिस्पॉन्स टीमों, एम्बुलेंस सेवा आदि के संबंध में विस्तार से जानकारी ली और निर्देशित किया कि हर जरूरतमंद तक सुविधाओं को पहुंचाने में किसी तरह की शिथिलता या लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

सीएचसी में ली व्यवस्थाओं की जानकारी

इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर के बाद मुख्यमंत्री सीएचसी जोगिया गए और यहां की व्यवस्थाओं की विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि मरीजों के इलाज में कोई कमी नहीं होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार के 7 सालों में पेट्रोल 22 रुपये हुआ महंगा

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More