मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया था सपा का एजेंट, अब ओवैसी ने किया जवाबी हमला

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 23 नवंबर को असदुद्दीन ओवैसी पर हमला बोला था। सीएम योगी ने असदुद्दीन ओवैसी को समाजवादी पार्टी का एजेंट बताया था।

0 290

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 23 नवंबर को असदुद्दीन ओवैसी पर हमला बोला था। सीएम योगी ने असदुद्दीन ओवैसी को समाजवादी पार्टी का एजेंट बताया था। उन्होंने कहा था कि ओवैसी उत्तर प्रदेश में भावनाएं भड़काने का काम कर रहे हैं। तो वहीं, अब सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान पर एआईएमआईएम पार्टी के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने भी जवाबी हमला किया है। ओवैसी ने कहा, ‘मैं सिर्फ़ उनका एजेंट हूं जिन्होंने मुल्क को आज़ादी दिलायी और भारतीयों के नागरिकता को मज़हब से परे रखा।’

ओवैसी ने किया जवाबी हमला:

एआईएमआईएम पार्टी के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने न्यूज़ चैनल का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “बुल्डोज़र नहीं, #THAR चलाई थी। जिसे रौंदा गया था वो दंगाई/माफिया नहीं, #लखीमपुर_खीरी के किसान थे। रौंदने वाले का बाप अभी भी मंत्री है। ठोक देंगे वाले बाबा, मैं सिर्फ़ उनका एजेंट हूं जिन्होंने मुल्क को आज़ादी दिलायी और भारतीयों के नागरिकता को मज़हब से परे रखा। पहले भी कहा था, फिर कह रहे हैं #CAA-NPR-NRC जैसे असंवैधानिक क़ानून लागू करोगे तो हम हर संवैधानिक ज़रिए से उसकी पुरज़ोर मुख़ालिफ़त करेंगे। सिर्फ़ उत्तर प्रदेश ही नहीं, भारत के हर कोने में मुख़ालिफ़त करेंगे।”

सीएम योगी ने क्या कहा था

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि चाचा जान और अब्बा जान के अनुयायी सावधान होकर सुन लें, अगर प्रदेश में भावनाओं को भड़काकर माहौल खराब करोगे तो उत्तर प्रदेश सरकार सख्ती के साथ निपटना जानती है। सीएम योगी ने आगे कहा कि उस व्यक्ति को चेतावनी देता हूं जो सिटीजनशिप एक्ट संशोधन के नाम पर लोगों को भड़काने का काम फिर से कर रहा है। जनता जानती है कि ओवैसी समाजवादी पार्टी का एजेंट बनकर प्रदेश में प्रवेश कर चुका है। वो लोगों की भावनाओं को भड़काने का काम कर रहे हैं। लेकिन उत्तर प्रदेश अब इस दिशा में आगे बढ़ चुका है, अब दंगा नहीं दंगा मुक्त प्रदेश बन चुका है।

 

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने किया कृषि कानूनों की वापसी का ऐलान, कांग्रेस बोली- ‘टूट गया अभिमान

यह भी पढ़ें: Chunar Assembly: इस पटेल बाहुल्य सीट पर भाजपा का रहा है दबदबा, कभी नहीं जीत पाई BSP

(अन्य खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें। आप हमेंट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More