मध्य प्रदेश: BJP MP का उल्टा तिरंगा लिए वीडियो वायरल, कांग्रेस नेता बोले- सांसद ने अपनी संस्कृति का परिचय दिया है

0 103

मध्य प्रदेश के खंडवा से आजादी के अमृत महोत्सव को लेकर एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में भाजपा सांसद ज्ञानेश्वर पाटिल हाथों से उल्टा तिरंगा पकडे हुए दिख रहे हैं. उनके साथ में मध्य प्रदेश की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर भी हैं. हालांकि, वीडियो वायरल होने के बाद भाजपा सांसद ने इस मामले पर सफाई दी है. वहीं, कांग्रेस नेता कुंदन मालवीय ने इस वीडियो को लेकर भाजपा पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि सांसद ने अपनी संस्कृति का परिचय दिया है. वो जिस पाठशाला से निकले हैं जो संघ की और संघ की परम्परा है. उसी का पालन सांसद ने किया है.

मध्य प्रदेश के खंडवा लोकसभा के भाजपा सांसद ज्ञानेश्वर पाटिल हाथ में उल्टा तिरंगा लिए हुए हैं, वीडियो में उनके साथ एमपी की संस्कृति और आध्यात्म मंत्री उषा ठाकुर भी तिरंगा लहराते दिख रही हैं. बाकी लोग भी सिर्फ फोटो खिंचवाने में व्यस्त हैं. इस दौरान वहां मौजूद किसी का भी ध्यान भाजपा सांसद के उल्टा तिरंगा सीधा करवाने पर नहीं गया.

बता दें कि संस्कृति और खंडवा जिले की प्रभारी मंत्री उषा ठाकुर ने आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान स्वतंत्रता दिवस पर घर-घर झंडा फहराने के लिए रविवार को खंडवा के घंटा घर से एक स्टॉल पर पहुंचकर 10 झंडे खरीदे. उषा ठाकुर ने लोगों से भी स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अपने घर पर झंडा फहराकर स्वतंत्रता आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले शहीदों को सम्मान देकर राष्ट्रभक्ति का परिचय देने की अपील की. इस दौरान उनके साथ खंडवा भाजपा सांसद ज्ञानेश्वर पाटिल भी मौजूद थे. जिसके बाद वो निशाने पर आ गए.

वीडियो वायरल होने के बाद ज्ञानेश्वर पाटिल ने अपनी सफाई में मीडिया से कहा कि ये त्रुटिवश हो गया होगा. किसी ने मुझे तिरंगा देखने को दिया होगा, देखने में मुझे ऐसा हो गया होगा और आप जैसे किसी साथी ने फोटो ले लिया होगा. मैंने यह वीडियो नहीं देखा, लेकिन आप बता रहे तो आगे से ध्यान रखूंगा.

उधर, कांग्रेस नेता कुंदन मालवीय ने इस ममले पर जमकर निशाना साधा. कुंदन ने कहा ‘सांसद का उल्टा तिरंगा हाथ में लेने की वजह बड़ी सामान्य सी है. वह जिस पाठशाला से पढ़ कर आये हैं, वहां शायद तिरंगे का सम्मान नहीं किया जाता. हालांकि, सांसद ने इस मामले में माफ़ी मांग ली है, लेकिन कहना चाहता हूं कि वो जहां तिरंगा लहरा रहे थे, वहां वो तिरंगा खरीदने गए थे. यह बहुत ही अफ़सोस की बात है कि आज भी हमें हमारे देश का सर्वोच्च सम्मान खरीदना पड़ रहा हैं.’

भाजपा पर निशाना साधते हुए कुंदन ने आगे कहा ‘इस देश में अरबों रूपये का घोटाला हो गया यहां से लोग अरबों रुपये लेकर भाग गए और इस देश के प्रधानमंत्री आजादी के 75वें महोत्सव को तिरंगा बेच कर मनाना चाहते हैं. यह बेहद अफसोस की बात है कि जहां इस आजादी के महोत्सव में इस तिरंगे को घर-घर बांटना था वहां आज इसे खरीदना पड़ रहा है. इसे एक व्यापार बना दिया गया हैं.’

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More