यूपी: कॉमनवेल्थ गेम्स में मेडल्स जीतने वाले खिलाड़ियों को सम्मानित करेगी योगी सरकार

0 81

बर्मिंघम में चले रहे कॉमनवेल्थ गेम्स का समापन मंगलवार को हो चुका है. इनमें यूपी के 8 खिलाड़ियों ने भारत के लिए मेडल्स जीतकर देश-प्रदेश का गौरव बढ़ाया है. इन सभी विजयी खिलाड़ियों को योगी सरकार नकद इनाम एवं अन्य सुविधाओं से सम्मानित करेगी. इसके तहत गोल्ड मेडल विजेता खिलाड़ी को एक करोड़ रुपए, सिल्वर मेडल विजेता खिलाड़ी को 75 लाख रुपए और ब्रॉन्ज मेडल विजेता खिलाड़ी को 50 लाख रुपए का नकद ईनाम दिया जाएगा. इसके साथ ही सभी मेडल्स जीतने वाले सभी खिलाड़ियों को राजपत्रित अधिकारी का पद भी दिया जाएगा.

कॉमनवेल्थ गेम्स में मेरठ की प्रियंका गोस्वामी ने 10 किमी पैदल चाल में और भारतीय महिला क्रिकेट टीम की दीप्ति शर्मा ने सिल्वर मेडल जीता. बिजनौर की मेघना सिंह ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम में सिल्वर मेडल जीती हैं. वाराणसी के ललित उपाध्याय ने भारतीय पुरुष हॉकी टीम में सिल्वर मेडल जीता है. इसके अलावा, वाराणसी के विजय कुमार यादव ने जूडो, मुजफ्फरनगर की दिव्या काकरान ने पहलवानी में, मेरठ की अन्नू रानी ने भाला फेंक में एवं वंदना कटारिया ने महिला हॉकी टीम में देश के लिए ब्रॉन्ज मेडल जीते हैं.

इसके साथ ही कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सेदारी के लिए भी 5 खिलाड़ियों को भागीदारी राशि के तौर पर 5-5 लाख रुपए प्रदान किए जाएंगे. इनमें मेरठ की चक्का फेंक (डिस्कस थ्रो) खिलाड़ी सीमा पूनिया, वाराणसी की भारोत्तोलक (वेटलिफ्टर) पूनम यादव एवं पूर्णिमा यादव, जौनपुर के भाला फेंक (जेवलिन थ्रो) खिलाड़ी रोहित यादव और संभल की हैमर थ्रो खिलाड़ी सरिता यादव शामिल हैं.

योगी सरकार ने खिलाड़ियों की डाइट मनी 250 रुपए से बढ़ा कर 375 रुपए प्रतिदिन की है. अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी तैयार हों, इसके लिए 1.50 लाख रुपए के मानदेय पर 50 अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को बतौर प्रशिक्षक रखा जा जा रहा है. खिलाड़ियों के लिए अनुदान राशि में बढ़ोतरी करने के साथ ही एकलव्य क्रीड़ा कोष की स्थापना की गई है. खेल को बढ़ावा देने के लिए खेल विकास एवं प्रोत्साहन नियमावली 2020 को प्राख्यापित करते हुए इस वित्तीय वर्ष में 8.55 करोड़ रुपए की व्यवस्था की. जिला स्तर की प्रतियोगिताओं के लिए 5 लाख, मंडल स्तर की प्रतियोगिताओं के लिए 15 लाख रुपए दिए जा रहे हैं.

बता दें कि नागपंचमी के अवसर पर गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर में परंपरागत कुश्ती प्रतियोगिता के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था

‘खेलों के विकास और खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए प्रदेश सरकार का खजाना खुला हुआ है. ओलंपिक, एशियन गेम्स, कॉमनवेल्थ आदि प्रतियोगिताओं में पदक विजेता प्रदेश के खिलाड़ियों को राजपत्रित अधिकारी के रूप में नियुक्ति की स्वीकृति दी जा चुकी है. इसके साथ ही पदक विजेताओं पर लाखों, करोड़ों रुपए की धनवर्षा भी की जा रही है. यह सिलसिला थमेगा नहीं. 2014 के बाद पीएम नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में खेलो इंडिया अभियान से गांव-गांव खेल और खिलाड़ियों को मिले प्रोत्साहन के सकारात्मक परिणाम मिल रहे हैं. आज हमारे खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय फलक पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहे हैं.’

सीएम योगी ने मेडल जीतने वाले उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों के साथ-साथ अन्य प्रदेशों के खिलाड़ियों को भी शुभकामनाएं दी थीं. इससे पहले भी योगी सरकार टोक्यो ओलंपिक के दौरान भी भारत के लिए पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को भव्य समारोह में सम्मानित कर चुकी है.

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More