यूपी: स्वतंत्रता दिवस पर धमाके की योजना बनाने वाले ISIS आतंकी को ATS ने किया गिरफ्तार, AIMIM का सक्रिय सदस्य है सबाउद्दीन आजमी

0 80

यूपी एटीएस ने मंगलवार को आईएसआईएस से जुड़े एक आतंकी को गिरफ्तार कर लिया है. वह स्वतंत्रता दिवस पर बम धमाका करने की योजना बना रहा था. सबाउद्दीन आजमी नाम के आईएसआईएस आतंकी को आजमगढ़ से एटीएस टीम ने गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आतंकी सबाऊद्दीन आजमी के पास से आईईडी बनाने का सामान, अवैध असलहा और कारतूस बरामद हुआ है. बताया जा रहा है कि वह आईएसआईएस के रिक्रूटर से सीधे संपर्क में था. सबाउद्दीन आजमी इस समय असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम का सक्रिय सदस्य भी है.

 

जानकारी के मुताबिक, यूपी एटीएस को सूचना मिली थी कि आजमगढ़ में अमिलो मुबारकपुर में एक व्यक्ति अपने साथियों के माध्यम से आईएसआईएस की विचारधारा से प्रभावित होकर व्हाट्सऐप व अन्य सोशल मीडिया एप्लीकेशन के माध्यम से जिहादी विचारधारा का प्रचार-प्रसार कर अन्य लोगों को भी आईएसआईएस से जुड़ने के लिए प्रेरित कर रहा है. गिरफ्तारी के बाद उसे पूछताछ के लिए एटीएस मुख्यालय लाया गया है. वहां, पूछताछ और मोबाइल डेटा खंगाले जाने पर इसके द्वारा आईएसआईएस द्वारा आतंक एवं जिहाद के लिए मुस्लिम युवकों का ब्रेनवॉश करने के लिए बनाए गए टेलीग्राम चैनल अल-सकर मीडिया से जुड़े होने के प्रमाण मिले हैं.

एटीएस के मुताबिक, बिलाल नाम के व्यक्ति से फेसबुक पर जुड़ने के बाद, बिलाल सबाउद्दीन से जिहाद और कश्मीर में मुजाहिदों पर हो रही कार्रवाई के बारे में बात किया करता था. बातों-बातों में ही बिलाल ने मूसा उर्फ खत्ताब कश्मीरी का नंबर दिया, जो आईएसआईएस का सदस्य है. उससे आतंकी की बात होने लगी. कश्मीर में मुजाहिदों पर हो रहे जुल्मों का बदला लेने की योजना के संबंध में मूसा ने आईएसआईएस के अबू बकर अल शामी का नंबर दिया जो वर्तमान में सीरिया में है.

अबू बकर अल शामी के संपर्क में आने के बाद सबाउद्दीन ने मुजाहिदों पर हो रही कार्रवाई का बदला लेने के लिए आईएसआईएस की तरह भारत में भी एक इस्लामिक संगठन बनाने और आईईडी बनाने के संबंध में जानकारी की. शामी ने सबाउद्दीन को आईईडी बनाने की विधि व आवश्यक सामग्री बताई और सबाउद्दीन का संपर्क आईएसआईएस रिक्रूटर अबू उमर, जो मुर्तानिया का रहने वाला है से कराया. अबू उमर द्वारा सोशल मीडिया ऐप के माध्यम से हैंड ग्रेनेड, बम और आईईडी बनाने की ट्रेनिंग दी जाने लगी. इसके साथ ही मुजाहिदीन संगठन तैयार कर भारत में इस्लामिक स्टेट स्थापित करने और भारत में इस्लामी हुकूमत एवं शरिया कानून लागू कराने की योजना पर काम होने लगा.

सबाउद्दीन आरएसएस के सदस्यों को टारगेट करने के लिए आरएसएस के नाम से मेल आईडी बनाई और उससे फेसबुक अकाउंट बनाकर उन्हें टारगेट करने की योजना पर काम कर रहा था.

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More