पुलिस पर एक और दाग : कांस्टेबल ने नाबालिग छात्र को भेजे अश्लील मैसेज व वीडियो, निलंबित

0 501

डीएसपी हीरालाल सैनी और जयपुर कमिश्नरेट की महिला कांस्टेबल के अश्लील वीडियो का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि एक कांस्टेबल द्वारा कॉलेज के नाबालिग छात्रों को वाट्सएप पर अश्लील संदेश और वीडियो भेजने का मामला प्रकाश में आया है। आरोप है कि कांस्टेबल ने छात्रों पर मानसिक दबाव बनाया और वाट्सएप पर स्वयं के अश्लील फोटो एवं संदेश भेजे। छात्रों को अपने मकान पर बुलाने के लिए भी दबाव डाला गया। कांस्टेबल अजमेर जिले के ही पीसांगन पुलिस स्टेशन पर तैनात था।

छात्रों का आरोप है कि 22 दिसंबर 2020 को भी पुलिस स्टेशन पर लिखित में शिकायत दी थी। लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। कार्रवाई नहीं होने के कारण ही आरोपित सिपाही छात्रों को ज्यादा तंग करने लगा। 20 सितंबर को पंचायत समिति सदस्य प्रदीप कुमावत ने छात्रों की ओर से एक शिकायत अजमेर ग्रामीण क्षेत्र के डीएसपी अमित मेहरड़ा को दी। इस शिकायत में वो वाट्सएप चेट और अश्लील वीडियो भी दिया जो कांस्टेबल ने छात्रों को भेजे थे।

कांस्टेबल पर मुकदमा दर्ज-

जिला पुलिस अधीक्षक जगदीश शर्मा ने पुलिस की छवि से जुड़े इस मामले को गंभीरता से लिया और रात को ही कांस्टेबल के विरुद्ध आईटी और पोक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया। आरोपित कांस्टेबल विक्रम सिंह शेखावत को सस्पेंड करने के आदेश भी जारी कर दिए हैं। एसपी ने बताया कि दर्ज मुकदमे की जांच नसीराबाद के थानाधिकारी से करवाई जाएगी। पूर्व में दी गई शिकायत पर कार्रवाई नहीं होने के मामले की जांच आईपीएस डीएसपी ग्रामीण, अमित मेहरड़ा को दी गई है।

इस संबंध में पीसांगन की थानाधिकारी प्रीति रत्नु का कहना है कि उनके पास छात्रों की शिकायत नहीं आई। यदि शिकायत आती तो वे तत्काल कार्रवाई करतीं। एसपी जगदीश शर्मा ने माना कि अपराध एक व्यक्ति करता है, लेकिन छवि पूरे महकमे की खराब होती है। उन्होंने कहा कि आरोपित कांस्टेबल की गिरफ्तारी की जाएगी। इस मामले में दोषी किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा।

पुलिस की छवि खराब

पीसांगन के एक कांस्टेबल द्वारा नाबालिग छात्रों को अश्लील संदेश और वीडियो भेजने से एक बार फिर राजस्थान पुलिस की छवि खराब हो रही है। पिछले दिनों ही ब्यावर के डीएसपी हीरालाल सैनी और एक महिला कांस्टेबल का अश्लील वीडियो वायरल होने के बाद राजस्थान पुलिस की छवि देशभर में खराब हुई।

अभी यह मामला शांत भी नहीं हुआ था कि एक कांस्टेबल का मामला उजागर हो गया। ब्यावर वाले प्रकरण में डीएसपी हीरालाल सैनी और महिला कांस्टेबल की बर्खास्तगी की कार्यवाही अंतिम चरण में है। जयपुर की विशेष अदालत ने 20 सितंबर को ही दोनों आरोपितों को जेल भेजा है।

यह भी पढ़ें: यूपी : हेड कांस्टेबल ने बाथरूम के अंदर गोली मारकर की आत्महत्या, मचा हड़कंप

यह भी पढ़ें: आगरा : लेडी कांस्टेबल का इस्तीफा मंजूर, अब मॉडलिंग करेंगी रिवॉल्वर रानी !

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More