वीडीए के ‘रडार’ पर पूर्वांचल की सबसे बड़ी दवा मंडी, बेसमेंट में दुकान बनाने वालों की अब खैर नहीं

0 419

धर्म नगरी काशी को स्मार्ट लुक देने के लिए मोदी-योगी सरकार पानी की तरह पैसे बहा रही है। काशी के कायाकल्प पर पिछले सात सालों में लगभग 50 हजार करोड़ रुपए लगाए जा चुके हैं। बावजूद इसके शहर की शक्लो-सूरत में अपेक्षित बदलाव नहीं दिख रहा है।

कारण है, अफसरों का बेअंदाज और लापरवाही भरा रवैया। इसकी बानगी देखने को मिल रही है पूर्वांचल की सबसे बड़ी दवा मंडी सप्तसागर में, जहां नियमों को ताक पर रखकर पार्किंग एरिया को गोदाम और दुकानों में तब्दील कर दिया गया है।

अब चलेगा वीडीए का डंडा-

सप्तसागर मंडी में सुबह से शाम तक दवा व्यापारियों का तांता लगा रहता है। बनारस के अलावा आसपास के जिलों के लिए व्यापारी दवा लेने के लिए पहुंचते है। लिहाजा इलाके में जाम की समस्या बनी रहती है। सप्तसागर मंडी की तंग गलियों में जाम का दूसरा सबसे बड़ा कारण दुकान की पार्किंग एरिया में अतिक्रमण।

vda

दरअसल अधिकांश दुकानों के बेसमेंट में वाहनों की पार्किंग एरिया को मकान मालिकों ने गोदाम में तब्दील कर दिया है। इसके एवज में मकान मालिक व्यापारियों से मोटी रकम वसूल करते हैं। मकान मालिकों की इस मनमानी का खामियाजा मंडी में पहुंचने वाले लोग और व्यापारियों को उठाना पड़ता है। इस बीच मकान मालिकों की मिल रही शिकायत पर वाराणसी विकास प्राधिकरण की नींद टूटी है।

वीडीए ने ऐसे मकानों की सूची बनाने के आदेश दिए हैं, जिनके बेसमेंट में गोदाम या फिर दुकानें चल रही हैं। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में मनमानी करने वाले मकान मालिकों के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है।

बेसमेंट में गोदाम बनाने वालों पर होगी कार्रवाई-

इस बीच स्थानीय व्यापारियों ने पूरी समस्या के लिए वीडीए के कुछ कर्मचारियों को कठघरे में खड़ा किया है। उनका कहना है कि वीडीए कर्मचारियों की मिलीभगत से बेसमेंट को गोदाम या दुकानों में तब्दील करने का कार्य चल रहा है।

इस बाबत वीडीए सचिव सुनील कुमार वर्मा का कहना है कि आरोपों की जांच कराई जाएगी। मंडी में मनमाने तरीके से भवन निर्माण कराने वाले लोगों को चिन्ह्ति करने का कार्य किया जा रहा है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ऐसे लोगों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: वाराणसी : कांग्रेस पूर्व MLA अजय राय को मुख्तार अंसारी से जान का खतरा ! सरकार से लगाई सुरक्षा की गुहार

यह भी पढ़ें: वाराणसी : कॉलेज के चेयरमैन को छेड़खानी करना पड़ा महंगा, ​परिजनों ने जमकर की पिटाई, VIDEO वायरल

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More