इस ट्वीट पर दिल्ली पुलिस ने मोहम्मद जुबैर को किया गिरफ्तार, राहुल गांधी ने समर्थन में लिखी ये बात

0 66

धर्म के नाम पर उकसाने और भड़काने वाली पोस्ट करने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने ऑल्ट न्यूज के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर को बीते सोमवार की शाम को गिरफ्तार कर लिया गया है. जुबैर पर दर्ज एफआईआर के मुताबिक उनके ट्वीट्स लोगों में काफी ज्यादा नफरत की भावना पैदा करने वाले होते हैं. एफआईआर में कहा गया ‘ऐसी पोस्ट को जानबूझकर मोहम्मद जुबैर की ओर से पब्लिश किया गया ताकि एक समुदाय विशेष की भावनाओं को आहत किया जा सके और शांति सद्भाव के माहौल को खराब किया जा सके.’ जुबैर की गिरफ्तारी हनुमान होटल और हनीमून होटल वाले ट्वीट पर हुई है. जोकि 4 साल पहले किया गया था.

साल 2018 में मोहम्मद जुबैर ने एक ट्वीट में 1983 में आई फिल्ममेकर ऋषिकेश मुखर्जी की फिल्म ‘किसी से न कहना’ की एक क्लिप शेयर की थी. इस क्लिप में एक तस्वीर दिखती है, जिसमें एक होटल के बोर्ड पर ‘हनुमान होटल’ होता है. उसमें पेंट से यह संकेत मिलता है कि जैसे पहले उसका नाम ‘हनीमून होटल’ रहा हो और उसे मिटाकर हनुमान होटल लिख दिया गया है. इस क्लिप के कैप्शन में जुबैर ने लिखा था ‘2014 से पहले: हनीमून होटल, 2014 के बाद: हनुमान होटल.’ जुबैर के इस ट्वीट पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप के तहत केस दर्ज किया गया है.

Image

पुलिस ने अदालत से जुबैर की एक हफ्ते की हिरासत मांगी थी, जिसे मजिस्ट्रेट ने खारिज कर दिया. लेकिन, एक दिन की पुलिस कस्टडी को मंजूरी दी है. जुबैर के खिलाफ यह शिकायत दिल्ली पुलिस के सब-इंस्पेक्टर अरुण कुमार ने दर्ज कराई है. पुलिस अधिकारी का कहना है कि वह सोशल मीडिया की मॉनिटरिंग कर रहे थे. इसी दौरान उन्हें ‘हनुमान भक्त’ नाम से ट्विटर हैंडल मिला था, जिसमें मोहम्मद जुबैर के ट्वीट पर सवाल उठाया गया था.

बता दें ऑल्ट न्यूज के सह-संस्थापक प्रतीक सिन्हा ने सोमवार को जुबैर के समर्थन में ट्वीट किया था. उन्होंने कहा था कि जुबैर को साल 2020 में दर्ज किए गए एक अलग मामले में पूछताछ के लिए बुलाया था, जिसमें कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगाई है. लेकिन पुलिस ने उन्हें एक और नए मामले में बिना किसी नोटिस के ही अरेस्ट कर लिया. यही नहीं कई बार रिक्वेस्ट के बाद भी एफआईआर की कॉपी तक नहीं दी गई.

उधर, मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी को लेकर विपक्ष भी सरकार पर हमलावर हो गया है. जुबैर के समर्थन में राहुल गांधी ने ट्वीट में लिखा ‘सत्य की एक आवाज को गिरफ्तार करोगे तो एक हजार आवाजें उससे और उठ जाएंगी.’

इसके अलावा टीएमसी की सांसद महुआ मोइत्रा ने दिल्ली पुलिस की कार्रवाई को अपने आकाओं को खुश करने की कोशिश बताया है.

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More