‘लड़कियां खुद बनाती हैं संबंध, फिर दर्ज कराती हैं रेप का केस…’

0 1,470

अधिकांश मामलों में लड़कियां लिव इन में रहकर संबंध बनाती हैं। जब शादी नहीं होती या रिश्ता बिगड़ जाता है तो वे रेप का केस दर्ज करा देती हैं। ऐसे में लड़कियों को किसी के साथ रिश्ते बनाने से पहले सोच समझ लेना चाहिए, क्योंकि ऐसे रिश्तों के परिणाम बुरे भी हो सकते हैं।

यह कहना है छत्तीसगढ़ की राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक का। एक पत्रकार ने जब उनसे महिला उत्पीड़न पर सवाल पूछा तो उन्होंने यही जवाब दिया।

फिल्मों से अलग होती है जिंदगी-

डॉ. किरणमयी नायक इस पर ही नहीं रुकीं। आगे उन्होंने कहा कि हर एक की स्थिति अलग होती है, दुनिया फिल्मी कहानी की तरह नहीं होती है। बच्चियों और महिलाओं को उनके अधिकार पता होने चाहिए। अगर लड़कियां नाबालिग हैं तो वे प्यार मोहब्बत के फिल्मी तरीकों से बचें और इनके चक्कर में न आएं।

karmani nayak
Karmani Nayak

यह आपका परिवार, घर व जिंदगी बर्बाद कर सकता है। नायक ने बताया कि कई केस ऐसे आते हैं, जिनमें लड़कियां 18 साल की होती नहीं हैं और शादी कर लेती हैं। उसके बाद अपने बच्चों के साथ महिला आयोग के पास शिकायत लेकर आती हैं।

खुद बने जिम्मेदार-

किरणमयी नायक ने कहा कि हर किसी की जिंदगी की कहानी अलग होती है। पहले आप पढ़-लिखकर ज़िम्मेदार बनें। अगर आप किसी से शादी करना चाह रहे हैं तो आप देखें कि वह ज़िम्मेदार है कि नहीं।

आपकी परवरिश कर सकता है कि नहीं। अगर शादीशुदा व्यक्ति आपको प्यार के झांसे में फंसा रहा है तो आपको यह समझना होगा कि वह आपसे झूठ बोल रहा है। इन सब मामलों में आपको पुलिस थाने और कोर्ट कचहरी के चक्कर लगाने पड़ेंगे।

यह भी पढ़ें: लिव-इन में खुश नहीं रहती महिलाएं, RSS प्रमुख जारी करेंगे सर्वे रिजल्ट

यह भी पढ़ें: सांवली दुल्हन देखकर शादी से फरार हुआ दूल्हा और फिर…

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More