Chakiya Assembly: इस विधानसभा सीट पर 2017 में बीजेपी को मिली थी जीत, 2022 में हो सकता है त्रिकोणीय मुकाबला

उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में अब कुछ ही महीने बचे हैं। राजनीतिक दलों ने एक दूसरे को मात देने के लिए कमर कस ली है। इस बीच बात करते हैं चंदौली जिले के चकिया विधानसभा सीट की।

0 210

उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में अब कुछ ही महीने बचे हैं। राजनीतिक दलों ने एक दूसरे को मात देने के लिए कमर कस ली है। इस बीच बात करते हैं चंदौली जिले के चकिया विधानसभा सीट की। चकिया ही वह विधानसभा क्षेत्र है, जहां केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह का पैतृक गांव भभौरा है।

चकिया विधानसभा:

चकिया विधानसभा रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट के तहत आने वाली 5 विधानसभा सीटों में से एक है। 1962 के आम चुनावों के साथ शुरू हुआ चकिया एक सुरक्षित विधानसभा सीट है। विधानसभा चुनाव 2017 में इस सीट पर भाजपा ने जीत का परचम लहराया था। आगामी विधानसभा चुनाव में इस सीट पर बीजेपी, एसपी और बीएसपी के बीच त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल सकता है।

पिछले पांच चुनाव:

2017- शारदा प्रसाद, भाजपा

2012- पूनम, सपा

2007- जितेंद्र कुमार, बसपा

2002- शिव तपस्या, बसपा

1996- सत्यप्रकाश सोनकर, सपा

भारतीय जनता पार्टी को मिला था बहुमत:

2017 में हुए उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने बहुमत से सरकार बनाया था। 403 विधानसभा सीटों पर हुए चुनाव में भाजपा को 325, सपा 47, बसपा 19, कांग्रेस 7 सीटें जीतने में सफल हुई थी। इसके अलावा, रालोद के खाते में भी एक सीट गई थी और अन्य का 4 सीटों पर कब्जा रहा।

 

यह भी पढ़ें: Mahadewa Assembly: यहां जिस पार्टी ने हासिल की जीत, सूबे में उसी की बनी सरकार

यह भी पढ़ें: Chunar Assembly: इस पटेल बाहुल्य सीट पर भाजपा का रहा है दबदबा, कभी नहीं जीत पाई BSP

(अन्य खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें। आप हमेंट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More