Agnipath Protest: बवाल की वजह से कैंसिल हुईं 742 ट्रेनें, रेलवे करेगा टिकट का पूरा पैसा वापस, ऐसे लें रिफंड

0 61

देश भर में हो रहे केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध प्रदर्शन का सबसे बुरा असर रेल सेवाओं पर पड़ा है. इस हिंसक प्रदर्शन में कई जगहों पर ट्रेनों में आग लगाकर रेल पटरियों को भी क्षतिग्रस्त किया गया है, जिससे रेल संपत्ति को काफी ज्यादा नुकसान हुआ है. रेल मंत्रालय के एनटीईएस पोर्टल के अनुसार, सोमवार दोपहर तक 742 ट्रेनों को पूरी तरह से रद्द कर दिया गया था. 28 ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द किया गया. रविवार को भी 483 ट्रेनों को रद्द करना पड़ा था.

One killed, 14 injured as police fire at Agnipath agitators in Secunderabad

यहां जानिए कैसे वापस लें टिकट का रिफंड

 

रेल मंत्रालय ने ट्वीट में बताया कि ट्रेन पूरी तरह रद्द होने की स्थिति में टिकट का पूरा पैसा वापस किया जाएगा. इसके लिए टिकट कैंसल करने या रिफंड लेने के लिए टीडीआर यानी टिकट डिपॉजिट रिसीट फॉर्म भरने की जरूरत नहीं होगी. आईआरटीसी के अधिकारी ने ट्वीट में बताया कि अगर ट्रेन को आंशिक रूप से रद्द किया गया है या डाइवर्ट किया गया है, तब रिफंड लेने के लिए टीडीआर फाइल करना होगा. ये काम निर्धारित समयसीमा के अंदर करना होगा. ये भी कहा गया है कि परिचालन की दिक्कतों की वजह से रेलवे किसी ट्रेन को रद्द किए जाने के लिए मार्क करता है. लेकिन, अगर स्थितियां अनुकूल होंगी तो ट्रेन को किसी भी समय बहाल किया जा सकता है. ट्रेन फाइनली रद्द हुई या नहीं, इसका पता चार्ट बनने के बाद ही चलेगा.

Agnipath' Protests: Internet Services Suspended in Haryana, 12 Districts of  Bihar

एक चैनल की रिपोर्ट के अनुसार, अगर रेल टिकट ऑनलाइन आईआरटीसी की वेबसाइट या मोबाइल ऐप के जरिए बुक किया गया है और ट्रेन रद्द हो जाती है तो टिकट अपने आप रद्द हो जाएगा. टिकट पैसा भी उस बैंक खाते में अपने आप वापस आ जाएगा, जिससे टिकट बुक की गई है. अगर ट्रेन रद्द नहीं हुई है और यात्री खुद टिकट कैंसल कराना चाहता है तो रिफंड आईआरटीसी के नियमानुसार मिलेगा. यदि टिकट को रेलवे काउंटर के जरिए बुक कराया गया है तो रद्द हुई ट्रेन टिकट का पैसा वापस पाने के लिए निकटतम टिकट काउंटर पर जाना होगा.

Violence Over 'Agnipath' Spreads, Opposition Ramps Up Pressure

हालांकि हेल्पलाइन नंबर 139 पर कॉल करके या आईआरसीटीसी की वेबसाइट या ऐप पर जाकर भी टिकट को रद्द करवाया जा सकता है. टिकट रद्द करने के लिए आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा, जिसके वैरिफिकेशन के बाद ही टिकट कैंसल होगा.

मीडिया चैनल के अनुसार, आईआरटीसी के रूल्स कहते हैं कि अगर कोई ट्रेन तीन घंटे से अधिक की देरी से चलती है और यात्री उसमें सफर नहीं करना चाहता तो वह अपनी टिकट रद्द करवा सकता है. इसके लिए उसे रिफंड मिलेगा. लेकिन ये टीडीआर जमा करने के बाद ही मिलेगा. ये टीडीआर फॉर्म रेलवे के काउंटर पर या वेबसाइट या ऐप के जरिए सबमिट किया जा सकता है.

Agnipath: మంటల్లో కాలిపోతున్న రైళ్లు.. సికింద్రాబాద్ స్టేషన్‌లో భయానక  దృశ్యాలు | Agnipath protests Secunderabad railway station vandalised and a  train set ablaze by agitators who are protesting ...

आईआरटीसी अधिकारी ने बताया कि यात्री अपने टिकट के पीएनआर स्टेटस की जानकारी रेलवे की बेवसाइट www.indianrail.gov.in/enquiry/PNR/PnrEnquiry.jsp से ले सकते हैं. या फिर यात्रा के लिए रवानगी से पहले उसकी स्थिति जानने के लिए या टिकट रद्द करवाने के लिए ट्रेन इन्क्वायरी नंबर 139 पर कॉल करके भी जानकारी ली जा सकती है. ट्रेनों के टिकट रद्द कराने पर पैसा वापसी के लिए आईआरटीसी ने कई नियम बना रखे हैं.

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More