एक ही IMEI नंबर के 13 हजार से अधिक मोबाइल फोन एक्टिव, दर्ज हुआ केस

0 468

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में एक ही इंटरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी (IMEI) से 13 हजार से ज्यादा मोबाइल फोन चलाने का मामला सामने आने के बाद पुलिस एक्शन में दिखी। मेरठ के एसपी एएन सिंह ने कहा कि यह सुरक्षा से जुड़ा एक गंभीर मामला है। इस मामले में चीनी कंपनी के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

ता दें कि गुरुवार को मेरठ पुलिस की साइबर सेल ने खुलासा किया था कि एक ही IMEI नंबर से 13 हजार से ज्यादा मोबाइल चल रहे हैं। इससे पहले पूरे मामले पर खुलासा करते हुए एडीजी राजीव सभरवाल ने गुरुवार को बताया था कि 13 हजार से ज्यादा फोन के एक ही IMEI नंबर पाए गए हैं।

ऐसे सामने आया मामला…

एडीजी राजीव सभरवाल के अनुसार, जोन कार्यालय में तैनात विभाग के अधिकारी से ही ये सूचना मिली। उन्होंने बताया कि विभाग के अधिकारी ने अपना फोन रिपेयर कराया था। रिपेयर के बाद उनके फोन का IMEI नंबर बदल गया था।

इसके बाद जोन कार्यालय में ही साइबर सेल में इस IMEI नंबर को चेक किया गया। इस जांच में सामने आया कि एक IMEI नंबर पर हजारों फोन चल रहे हैं। बाद में जब इसी IMEI नंबर की जांच जिले के साइबर सेल में की गई, तब यह भी खुलासा हुआ कि इस IMEI पर हजारों फोन नंबर एक्टिव हैं।

 

एडीजी ने कहा कि साइबर सेल की जांच के बाद अब मेरठ के मेडिकल थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले में गंभीरता से जांच की जाएगी। अगर ये टेक्निकल त्रुटि है तो उसकी भी जांच होगी और अगर कोई और मामला है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

साथ ही उन्होंने कहा कि IMEI नंबर किसी भी मोबाइल फोन का महत्वपूर्ण अंग होता है और एक से ज्यादा फोन में एक जैसे IMEI नंबर नहीं हो सकते। ये मोबाइल एक चीनी कंपनी के बताए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: यूपी : लड्डू और लौंग से हो रही ‘कोरोना माई’ की पूजा, Video Viral

यह भी पढ़ें: नेहा कक्कड़ का बड़ा खुलासा – बॉलीवुड में गाने के लिए नहीं मिलते पैसे

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्पडेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More