‘जहां बीमार वहीं उपचार’ पीएम ने कोरोना से जंग का ये मंत्र

0 365

पीएम नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के कोरोना वारियर्स से बात की. उन्होंने वैश्विक महामारी के सेंकेड वेव का डटकर मुकाबला करने वालों की तारीफ की तो थर्ड वेव के लिए तैयार रहने का संदेश दिया. उन्होंने कहाकि यह संतोष का समय नहीं है, अभी लम्बी लड़ाई लड़नी है. डॉक्टर्स के साथ ही पैरामेडिकल स्टाफ तथा अन्य मेडिकल कर्मियों के साथ संवाद के दौरान थर्ड स्ट्रेन पर तैयारी की जानकारी लेने के साथ अपने सुझाव भी दिया. इस दौरान वाराणसी के जनप्रतिनिधि तथा प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद रहे.

यह भी पढ़ें : तो घटने लगे भारत में कोरोना के आकड़ें…

 

धूर्त के खिलाफ है हमारी लड़ाई

कमिश्नरी सभागार में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 11 बजे से शुरू हुए संवाद के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा‍ कि हमारी लड़ाई रूप बदलने वाले धूर्त के खिलाफ है. इससे बड़ों के साथ बच्‍चों को भी बचाकर रखना है. अभी ब्‍लैक फंगस की भी चुनौती बनकर सामने आ रहा है. प्रधानमंत्री ने उनसे तीसरी लहर की तैयारी एवं ब्लैक फंगस के उपचार के लिए व्यवस्था की भी जानकारी ली. प्रधानमंत्री ने कोरोना संक्रमण काल को युद्ध की तैयारियों जैसा बताया. उन्होंने कहा कि युद्ध में फील्ड कमांडर की महती भूमिका होती है. कोरोना से युद्ध में फ्रंट लाइन वर्कर ही फील्ड कमांडर हैं. हम सब मिलकर सोचेंगे, तभी जीतेंगे. आज पूरे विश्‍व में कोरोना से लड़ने में योग का मह‍त्‍व प्रचलित हुआ. योग और आयुष ने लोगों की ताकत बढाई है.

ये भी पढ़ें..करीब 8000 रुपये सस्ता मिल रहा सोना, चांदी के दाम भी गिरे

प्रधानमंत्री को दी मृतकों को श्रद्धांजलि

संवाद के दौरान पीएम ने कोरोना वायरस की वजह से जान गंवाने वालों को श्रद्धांजलि दी. कहाकि कोरोना वायरस ने हमारे कई अपनों को हमसे छीना है, मैं उन सभी लोगों को अपनी विनम्र श्रद्धांजलि देता हूं. परिजनों के प्रति सांत्‍वना व्‍यक्‍त करता हूं. प्रधानमंत्री ने कहा‍ कि माइक्रो कंटेनमेंट जोन में काशी ने बेहतर काम किया. जोन बनाकर गांव और शहर में घर-घर दवाएं बांट रहे हैं. इस अभियान को गांव में व्‍यापक करना है. कोविड के खिलाफ गांवों में आशा वर्कर और एएनएम बहनों की भूमिका अहम है। इनकी क्षमता और अनुभव का लाभ लिया जाए. यूपी में सीनियर और युवा डॉक्‍टर टेली मेडिसिन के माध्‍यम से सेवा कर रहे हैं. खुद की तकलीफ से ऊपर उठकर हेल्‍‍‍‍थ वर्कर जी जान से काम करते रहे. एक-एक मरीज के लिए दिन रात काम किया. आपकी तपस्‍या से बनारस ने जिस तरह कम समय में खुद को संभाला है, आज पूरे देश में उसकी चर्चा हो रही है.

बनारस की जमकर की तारीफ

पीएम मोदी ने कोरोना संक्रमण रोकने के लिए बनारस में हो रहे काम की तारीफ की. उन्होंने कहाकि बनारस का कोविड कमांड सेंटर बढिया काम कर रहा है. जिस गति से कम समय में आइसीयू बेड बढाया और डीआरडीओ अस्‍पताल को स्‍थापित किया. मरीजों के लिए उसे सुलभ बनाया वह अनुकरणीय है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा‍ कि पूरे पूर्वांचल की स्वास्थ्य सेवा का बोझ बनारस उठाता है. पिछले सात साल में हेल्थ सेक्टर में जो काम हुआ उससे मदद मिली. मेरी काशी के लोग सबकी सेवा में जुटे हैं. कई व्यापारियों ने खुद आगे आकर अपनी दुकानें बंद की. यह सेवा भाव किसी को भी अभिभूत कर देगा. मां अन्नपूर्णा की नगरी का यही तो सहज स्वभाव है. कार्यक्रम के दौरान कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने कोविड की अब तक की स्थिति व रोकथाम की तैयारी को लेकर प्रेजेंटेशन दिया. डीआरडीओ के ब्रिगेडियर, कैंसर अस्पताल के चिकित्सक, सीएमएस के अलावा फ्रंटलाइन के दो-तीन वर्कर से बातचीत की.

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More