वाराणसी: अमृत महोत्‍सव के अंर्तगत ऑक्‍सीजन क्‍लब ने निकाली तिरंगा यात्रा, काशी में गूंजा भारत माता की जय का नारा

0 87

सामाजिक संस्‍था ऑक्‍सीजन क्‍लब के बैनर तले आजादी का अमृत महोत्‍सव ‘हर घर तिरंगा अभियान’ के अंर्तगत शनिवार को तिरंगा यात्रा निकाली गयी. भारत माता की जय और वंदे मातरम् के गगनभेदी उद्घोष के साथ क्‍लब के सिगरा मुख्‍यालय से शुरू हुई यात्रा रथयात्रा, भेलूपुर, लंका, अस्‍सी, मदनपुरा, गोदौलिया, लहुराबीर, मलदहिया होते हुए भारत माता मंदिर पहुंच कर समाप्‍त हुई.

यात्रा में ऑक्‍सीजन क्‍लब के हरहुआ, बीएचयू और बीएलडब्‍ल्‍यू पांडे घाट ब्रांच के सदस्‍यों के साथ प्रदेश सरकार के आयुष, खाद्य सुरक्षा व औषधि प्रशासन मंत्री डॉ दयाशंकर मिश्र ‘दयालु’ शामिल हुए. क्‍लब के सदस्‍यों के साथ उन्‍होंने महामना पं मदनमोहन मालवीय जी, लहुराबीर पर अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद और मलदहिया पर सरदार पटेल की प्रतिमा पर माल्‍यार्पण व नमन कर देश के महान सपूतों को याद किया.

क्‍लब के वरिष्‍ठ सदस्‍य गिरीश दूबे के संयोजन में निकली तिरंगा यात्रा का जगह-जगह लोगों ने देशभक्ति के जोशीले नारों से स्‍वागत किया. देशप्रेम की भावना से लबरेज यात्रा में शामिल क्‍लब के सदस्‍य रास्‍ते भर लोगों को देश की आन बान और शान का प्रतीक तिरंगा देते हुए चल रहे थे. भारत माता मंदिर में यात्रा के पहुंचते हुए माहौल पूरी तरह से देश भक्ति के रंग में रंग गया. मंदिर में सदस्‍यों ने अखंड भारत के मानचित्र के चारो ओर खड़े होकर तिरंगा लहराते हुए देश और समाज के उत्‍थान के लिए तन मन धन से सहयोग का संकल्‍प लिया.

क्‍लब के सदस्‍य अपने अलावा अगल-बगल के घरों, व्‍यापारिक प्रतिष्‍ठानों पर तिरंगा फहराने के लिए भी वचनबद्ध हुए. क्‍लब के हर सदस्‍य ने शपथ ली कि वो अपने मिलने जुलने वालों में कम से कम दो व्‍यक्ति को तिरंगा झंडा देंगे उसके सम्‍मान और महत्‍व के बारे में भी बतायेंगे.

यात्रा में मुख्‍य रूप से विक्रांत दूबे, अजय सिंह, अरविंद मिश्र, सुधांशु शर्मा, राजेश मिश्रा, रविन्‍द्र गिरी, सौरभ सिंह, कौशल सिंह, राकेश श्रीवास्‍तव कौशल पांडे आलोक शाह अनूप दुबे अतुल पाण्‍डेय, पिंकू शर्मा, देवेश श्रीवास्तव, अनुराग पाण्‍डेय छोटू, ललित सिंह, दीपक गुप्‍ता, भानू पाण्‍डेय, सुनील उपाध्‍याय, संजय यादव आदि शामिल हुए.

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More