वाराणसी में ब्लैक आउट के हालात, उमस भरी गर्मी में बूंद बंद के लिए तरसे लोग | Banaras Bulletin

0 281

भागदौड़ की जिंदगी में अगर आपसे खबरें छूट जा रही हैं तो बनारस की हर बड़ी खबर को बनारस बुलेटिन (Banaras Bulletin) में फटाफट अंदाज़ में देखें…

बिजली कर्मचारियों की हड़ताल जारी
जेल भरो आंदोलन की तैयारी में बिजली कर्मचारी
निजीकरण के विरोध में हड़ताल पर हैं बिजली कर्मचारी

विद्युत कर्मियों की निजीकरण के विरोध में की गयी अनिश्चितकालीन हड़ताल सोमवार की रात लखनऊ में हुए नाटकीय घटनाक्रम के बाद अब जेल भरो आंदोलन की तरफ बढ़ती दिखाई दे रही है। सोमवार को राज्य ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा द्वारा संघर्ष समिति से वार्ता के बाद सभी मांगे मानकर मसौदे पर हस्ताक्षर किया पर पावर कार्पोरेशन के चेयरमैन द्वारा समझौते पर हस्ताक्षर न किये जाने की वजह से वार्ता विफल हो गयी और यह हड़ताल बढ़ गयी है। संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने सभी कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल और जेल भरो आंदोलन के लिए तैयार रहने के लिए कहा है।

वाराणसी में ब्लैक आउट के हालात
उमस भरी गर्मी में बूंद-बंद के लिए तरसे लोग
आक्रोशित जनता सड़क पर उतरी

बिजली कर्मचारियों के हड़ताल के चलते पूर्वांचल के अधिकांश जिलों में ब्लैक आउट के हालात हैं। पिछले चौबीस घंटों से बिजली व्यवस्था ध्वस्त है। उमस भरी गर्मी में बेहाल लोग बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं। लिहाजा लोगों के सब्र का पैमाना छलकने लगा है। कुछ जिलों में नौबत मारपीट तक आ गई है। बिजली कटौती से खफा वाराणसी जनता सड़कों पर उतर आई। प्रहलाद घाट पर स्थानीय पार्षद की अगुवाई पर लोग धरने पर बैठ गए। गुस्साए लोगों ने यूपी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने पार्षद सहित धरना दे रहे कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया।

बिजली कर्मचारियों के कार्य बहिष्कार का दूसरा दिन
डीएम ने हालात काबू में होने का किया दावा
पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के ऑफिस पहुंचे जिलाधिकारी

विद्युत कर्मियों के कार्य बहिष्कार का आज दूसरा दिन है। पूरे जनपद में जगह-जगह लाइट के काटने की खबर आ रही है। इसी बीच देर रात से ही जिला प्रशासन बिजली व्यवस्था सुचारू करने में मुस्तैद है। इसी क्रम में मंगलवार को भिखारीपुर साथ पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के ऑफिस पहुंचे जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा कि इस कार्य बहिष्कार का जनपद पर कोई मेजर इम्पैक्ट नहीं पड़ा है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि विद्युत कर्मचारियों ने स्ट्राइक का एग्ज़ैक्ट नाम नहीं लिया है पर कार्य बहिष्कार इसको बोला जा रहा है। इसे लेकर प्रशासन की तैयारियां की गयी थी लेकिन जो कॉन्ट्रेक्चुअल एम्प्लाई थे उनमें भी कई लोग एप्सेंट रहे, जिसकी वजह से हमें भी थोड़ी दिक्कत महसूस हुई लेकिन अब काफी कोशिश कर ली गयी हैं और काफी जो कंट्रक्चुअल एम्पलाई हैं और जो प्राइवेट एम्प्लाई हैं उनको लेकर व्यवस्था चलाई जा रही है।

हाथरस कांड को लेकर जारी है विरोध प्रदर्शन
आम आदमी पार्टी ने जिला प्रशासन को सौंपा ज्ञापन
हाथरस पीड़ितों को सुरक्षा देने की मांग

हाथरस कांड को लेकर राजनैतिक दलों का गुस्सा शांत नहीं हो रहा है। आम आदमी पार्टी ने हाथरस कांड के पीड़ितों को सुरक्षा देने और पूरे मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के जज की निगरानी में कराने की मांग की है। मंगलवार को पार्टी की ओर से इस बाबत जिला प्रशासन को एक ज्ञापन सौंपा गया। इस मौके पर जिलाध्यक्ष श्री कैलाश पटेल ने कहा कि उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई इंसानियत को शर्मसार करने बाली घटना ने योगी सरकार पर बड़ा सवाल बड़ा किया है। योगी सरकार की नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि प्रदेश की 24 करोड जनता सुरक्षित रहे लेकिन योगी सरकार रक्षक की जगह भक्षक बन गयी है। हाथरस में हुई पटना इसी का जीता जागता उदाहरण है।

यह भी पढ़ें: बीएचयू तैयार कर रहा है ‘कलयुग का अभिमन्यु’, गर्भवती महिलाओं को दिया जा रहा है संस्कार थेरेपी

यह भी पढ़ें: बनारस में बिजली कटौती से ‘ब्लैक आउट’ के हालात, छलकने लगा लोगों के सब्र का पैमाना

यह भी पढ़ें: हाथरस में एक और ‘दिल दहला देने वाला रेप’, मासूम बच्ची से दरिंदगी की हदें पार…

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)
Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More