इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर 12355 लोगों की कमाई के बराबर निकला कैश, जानिए कैसे

इनकम टैक्स के छापे में नोटों के बंडल ओं से भरी अलमारी भी मिलने की खबर है इतना ही नहीं, पीयूष जैन के घर में एक तहखाना होने की भी खबर मिल रही है।

0 495

इत्र कारोबारी पीयूष जैन के यहां इनकम टैक्स के छापे में अब तक करीब 177 करोड़ रुपयों की बरामदगी हो चुकी है। जितना कैश पीयूष जैन के यहां बरामद हुआ है वह लगभग देश में 12355 लोगों की कमाई के बराबर है। इनकम टैक्स के छापे में नोटों के बंडल ओं से भरी अलमारी भी मिलने की खबर है इतना ही नहीं, पीयूष जैन के घर में एक तहखाना होने की भी खबर मिल रही है और यदि ऐसा होता है तो बरामद कैश में अभी और भी बढ़ोतरी हो सकती है।

12355 लोगों की कमाई कैसे?

आपको बताते हैं कि कारोबारी पीयूष जैन के यहां रिकवरी में मिली रकम 12355 लोगों की कमाई कैसे हो सकती है? दरअसल भारत में प्रति व्यक्ति आय 2020 के रिपोर्ट्स के मुताबिक 1900 डॉलर से अधिक और 2000 डॉलर से कम है। ऐसे में यदि देश में प्रति व्यक्ति आय को 1900 डॉलर मान लिया जाए तो यह भारतीय करेंसी में 143250.50 रुपये होता है। अब इत्र कारोबारी पीयूष जैन के यहां प्राप्त 177 करोड़ रुपये को 143250.50 से भाग दें तो इसका परिणाम लगभग 12355 आता है। अर्थात प्रति व्यक्ति आय के हिसाब से 177 करोड़ रुपये भारत में 12355 लोगों की आमदनी के बराबर है।

पीयूष जैन कौन हैं?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पीयूष जैन कन्नौज के बड़े इत्र कारोबारी हैं। पीयूष जैन का मूल निवास कन्नौज के छपट्टी मोहल्ले का होली चौक है। पीयूष जैन के पास तकरीबन 40 कंपनियां हैं। इनमें 2 मिडिल ईस्ट में हैं। कानपूर और कन्नौज में उनके पास इत्र की फैक्ट्री के अलावा कोल्ड स्टोर और पेट्रोल पंप भी हैं।

क्या कहता है नियम:

बता दें कि आयकर कानून की धारा 132 के तहत अधिकारी किसी भी व्यक्ति के घर या उसके बिजनेस पर छापा मार सकता है। इस छापे में यदि किसी प्रकार की गड़बड़ी पाई जाती है तो जब्ती भी किया जा सकता है। इस कानून के तहत अधिकारी को पूरे परिसर में मौजूद किसी भी व्यक्ति की तलाशी लेने का अधिकार होता है।

 

यह भी पढ़ें: भूटान ने पीएम मोदी को सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजा, कहा- बिना शर्त निभाई दोस्ती

यह भी पढ़ें: Chunar Assembly: इस पटेल बाहुल्य सीट पर भाजपा का रहा है दबदबा, कभी नहीं जीत पाई BSP

(अन्य खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें। आप हमेंट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More