मदरसे के इमाम ने मोहन भागवत को बताया ‘राष्ट्रपिता’, छात्रों से सुनीं कुरान की आयतें

0 239

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुखिया मोहन भागवत गुरुवार को अचानक दिल्ली की कस्तूरबा गांधी मार्ग मस्जिद में पहुंचे. उन्हें वहां देख हर कोई हैरान रह गया. इस दौरान उन्होंने ऑल इंडिया इमाम ऑर्गनाइजेशन के प्रमुख उमर अहमद इलियासी से मुलाकात की. इस दौरान मोहन भागवत ने इमाम से करीब एक घंटे तक मुलाकात की. मीटिंग के बाद इमाम उमर अहमद इलियासी ने मोहन भागवत को ‘राष्ट्रपिता’ बता दिया और कहा कि आरएसएस चीफ उनके निमंत्रण पर मदरसा तजवीदुल कुरान में आए थे. यही नहीं इसके बाद मोहन भागवत मस्जिद के पास ही चलने वाले मदरसे में भी पहुंच गए और छात्रों से बात की. मोहन भागवत के साथ संघ के वरिष्ठ नेता कृष्ण गोपाल, राम लाल और इंद्रेश कुमार भी थे.

इंद्रेश कुमार ने बताया कि मोहन भागवत ने बच्चों से पूछा कि आखिर वे क्या पढ़ते हैं और जिंदगी में क्या बनना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि ज्यादातर बच्चों ने बताया कि वे डॉक्टर या इंजीनियर बनना चाहते हैं. इस दौरान इमाम उमर अहमद इलियासी ने भागवत को बताया कि बच्चों को यहां मजहबी शिक्षा देने के अलावा आधुनिक विषयों की पढ़ाई भी कराई जाती है.

आरसएसस के प्रवक्ता सुनील आंबेकर ने मोहन भागवत के मस्जिद पहुंचने पर कहा कि वह समाज के सभी क्षेत्रों के लोगों से मिलते रहते हैं. उन्होंने कहा कि संघ की संवाद प्रक्रिया का यह हिस्सा है. बता दें संघ से जुड़ा संगठन राष्ट्रीय मुस्लिम मंच मुसलमानों के बीच काम करता है. इसके मुखिया के तौर पर इंद्रेश कुमार लंबे समय से काम कर रहे हैं.

मदरसे में पढ़ाने वाले महमूद हसन ने कहा कि बेहद सौहार्दपूर्ण माहौल में मोहन भागवत से बच्चों की मुलाकात हुई. उन्होंने कहा कि मोहन भागवत ने बच्चों से कहा कि वे इस्लामिक विषयों के अलावा कंप्यूटर के बारे में भी जानकारी हासिल करें. इससे उन्हें भविष्य में मदद मिलेगी. एक घंटे की विजिट के दौरान मोहन भागवत ने बच्चों से कुरान की आयतें भी सुनीं. हसन ने कहा कि मोहन भागवत ने बच्चों से जनरल नॉलेज के सवाल भी पूछे.उनका इस बात पर जोर था कि बच्चों को इस्लामिक विषयों के साथ ही आधुनिक विषयों के बारे में भी जानकारी दी जाए.

आरएसएस चीफ भागवत से मुलाकात के दौरान मदरसे के छात्रों ने जय हिंद और वंदे मातरम के नारे भी लगाए. कहा जा रहा है कि मुस्लिम समुदाय से संपर्क साधने के अभियान के तहत मोहन भागवत का यह दौरा हुआ.

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More