IND VS SL T20I: भारत की हार पर पूर्व ओपनर, मौजूदा कमेंटेटर की बच्चों ने की बोलती बंद

IND VS SL T20I सीरीज में लंका ने भारत को दी पटखनी, वनडे का हिसाब किया बराबर

0 279

IND VS SL T20I  सीरीज के तीसरे मैच में भारतीय क्रिकेट टीम को 7 विकेट से हार मिली. श्रीलंका के खिलाफ इस हार से टीम इंडिया ने तीन मैचों की सीरीज भी 1-2 से गंवा दी. इस हार के बाद भारत के एक विस्फोटक ओपनिंग बल्लेबाज और मौजूदा धाकड़ कमेंटेटर की बोलती बच्चों ने बंद कर दी.

हम बात कर रहे हैं IND VS SL T20I  सीरीज में तीसरे टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट मैच की. इस मैच के साथ ही सीरीज में 2-1 से मिली हार के बाद वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) को बच्चों की बातें सुननी पड़ीं.

सहवाग खुद टीम इंडिया की यंग ब्रिगेड के प्रदर्शन से निराश नजर आए. सहवाग ने साफ लहजे में राय रखी कि भारतीय युवा बल्लेबाजों ने IND VS SL T20I  सीरीज में स्वयं को साबित करने का सुनहरा मौका गंवा दिया.

यह भी पढ़ें – The Hundred: आप इस क्रिकेट टूर्नामेंट के बारे में कितना जानते हैं?

भारत की हार के बाद सहवाग ने एक शो के दौरान बताया कि मैच खत्म होने के बाद उनको बच्चों से काफी कुछ सुनना पड़ा.

हो रही थी बोरियत –

क्रिकेट खेल समीक्षक वीरेंद्र सहवाग ने खेल वेबसाइट क्रिकबज के साथ यह विचार शेयर किये. उन्होंने कहा, IND VS SL T20I  सीरीज के तीसरे मैच में भारतीय क्रिकेटर्स के लचर प्रदर्शन के कारण पूरा मैच देखना बोरिंग हो गया था.

सहवाग ने IND VS SL T20I सीरीज में भारतीय टीम की नाकामी पर कहा “वैसे मैच में कुछ हुआ भी नहीं, सिवाय विकेट गिरने के. विकेट्स के कारण बच्चे मुझे गालियां दे रहे थे, देख लो आपकी टीम क्या कर रही है.”

हालांकि आगे उन्होंने सांत्वना भरे अंदाज में कहा कि, वो दिन भारतीय टीम का दिन नहीं था, कई बार ऐसा मैच आता है जिस दिन आप पूरी तरह से ढह जाते हैं.

यह भी पढ़ें – Isolation: सूर्य-पृथ्वी का चक्कर बेकार!, क्या क्रुणाल पांड्या की भेंट चढ़ गए साथी

उन्होंने निराशा जताते हुए कहा, मुझे लग रहा था कि नई पिच है. इस पिच पर भारतीय टीम 130-35 रन तो बना ही लेगी. लेकिन यह नहीं सोचा था कि टीम 80 रनों के कुल योग पर ही ऑल आउट हो जाएगी.

साधारण गेंदबाजी के सामने टेके घुटने –

वीरू की मानें तो श्रीलंका की गेंदबाजी ज्यादा खास नहीं थी. उन्होंने भारतीय बल्लेबाजों को कटघरे में खड़ा किया.

क्रिकेट कमेंटेटर वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि, श्रीलंका के गेंदबाजों की गेंदबाजी उतनी प्रभावी नहीं थी जितना भारतीय बल्लेबाजों का निम्न प्रदर्शन. भारतीय बल्लेबाज रन नहीं बना सके.

उन्होंने खामी गिनाते हुए बताया कि, 3 बल्लेबाज तो LBW आउट हुए. कुल 5 में से 3 बल्लेबाजों का पगबाधा आउट होना सवाल खड़े करता है.

राणा ने गंवाया मौका –

सहवाग ने कहा कि उनको नीतीश राणा से टीम की नैया पार लगाने की उम्मीद थी. क्योंकि लगातार विकेट गिरने के बाद भी यदि कोई बल्लेबाज 50-60 रनों का योग दे देता तो टीम सम्मानजनक स्कोर बना सकती थी.

अफसोस जताते हुए सहवाग ने कहा कि नीतीश ने मिले सुनहरे मौके को गंवा दिया. सवालिया अंदाज में सहवाग ने पूछा कि बताइये इससे बढ़िया मौका और क्या मिलेगा कभी? बल्लेबाजों से 150 के स्ट्राइक रेट से बैटिंग की उम्मीद कोई नहीं कर रहा था, यदि बल्लेबाज 50 गेंद में 50 रन भी बनाते तो टीम की ऐसी दुर्गति नहीं होती.

आप भी लिंक क्लिक कर जानिये @VirenderSehwag और Ashish Nehra की क्या है राय.

https://twitter.com/cricbuzz/status/1421070568321921024

आपको बता दें IND VS SL T20I सीरीज के तीसरे और निर्णायक मैच में भारतीय टीम 20 ओवर में महज 81 रन ही बना पाई. इस टारगेट के जवाब में श्रीलंका ने तीन विकेट खोकर लक्ष्य 14.3 ओवर में ही हासिल कर लिया.

मैच के हीरो वानेंदु हसारंगा रहे. उन्होंने ताबड़तोड़ झटके देकर भारतीय टीम की कमर तोड़ कर रख दी. हसारंगा ने मात्र 9 रन देकर 4 विकेट झटके. भारतीय गेंदबाज राहुल चाहर ने 15 रन खर्च कर 3 विकेट प्राप्त किये.

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें. आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें.)
Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More