थानेदार समेत 11 पुलिसकर्मियों पर जल्द गिरेगी गाज, 5 साल पहले खाकी को किया था शर्मसार

0 636

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में पांच साल पहले हुए एक अपराध के लिए अब 11 पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की तैयारी चल रही है. मामले को लेकर एसपी ग्रामीण चार्जशीट दाखिल करने वाले हैं. चार्जशीट दाखिल होने के बाद आरोपी दारोगा समेत 11 पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जा सकती है. ये सभी पुलिसकर्मी एक महिला से लूट की घटना को अंजाम देने में शामिल थे. महिला पर झूठे आरोप लगाकर उसके खाते से पैसे निकलवाए गए थे और घर में रखे जेवरात भी जबरदस्ती ले लिए गए थे.

50 लाख के गबन का आरोप लगाकर लूटे करीब 4 लाख रुपये

मिली जानकारी के अनुसार, गाजीपुर जिले की रहने वाली सपना पांडेय का आरोप है कि, साल 2016 में 21 सितंबर को जमानियां स्थित सनशाइन पब्लिक स्कूल में उनपर 50 लाख रुपये गबन करने के आरोप लगाए गए थे. तत्कालीन थाना प्रभारी प्रवीण यादव ने उनको बताया कि, स्कूल के प्रबंधक के भाई ने ये आरोप लगाए हैं कि, 50 लाख रुपये गबन किए गए हैं . थाना प्रभारी सपना पांडेय को लेकर उनके घर गए और उनके पिता की अलमारी में रखे एक लाख 16 हजार नकद और करीब ढाई लाख रुपये के जेवरात निकाल लिए. इसके बाद सपना को दोबारा स्कूल लेकर गए और एक सादे कागज पर साइन करवाया.

यह भी पढ़ें- रिश्वतखोरी पर चला डीआईजी का हंटर, इंस्पेक्टर समेत पूरी चौकी हुई सस्पेंड

अगले दिन फिर मुझे लेकर जमनियां की यूबीआई शाखा लेकर गए और जबरदस्ती मेरे खाते से दो लाख 16 हजार रुपये निकलवाए. सपना इस मामले की शिकायत की तो मामला दर्ज किया गया था. मामले की विवेचना एसपीआरए वाराणसी को सौंपी गई थी. इस दौरान विवेचना खत्म होने के बाद एसपीआरए ने दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की स्वीकृति के लिए शासन को रिपोर्ट भेजी थी.

स्थानीय स्तर पर मामले को दबाया गया

लेकिन काफी समय गुजर जाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई तो सपना पांडेय ने आईजीआरएस पोर्टल पर मामले की जानकारी ली तो पता चला कि, शासन ने पिछले साल स्वीकृति दे दी थी. लेकिन स्थानीय स्तर पर मामले को दबाए रखा गया. अब मामले से संबंधित चार्जशीट दाखिल करने की तैयारी चल रही है.

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More