सोमवार को बीजेपी के हो जाएंगे कैप्टन अमरिंदर सिंह, जाने उनके चुनावों में प्रदर्शन और सियासी सफर के बारे में

0 272

पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह सोमवार यानि 19 सितंबर को बीजेपी में शामिल हो जायेंगे. वो दिल्ली स्थित बीजेपी मुख्यालय में राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा की मौजूदगी में प्राथमिक सदस्यता ग्रहण करेंगे. साथ ही, पंजाब विधानसभा चुनाव से ठीक पहले गठित पंजाब लोक कांग्रेस पार्टी का भी बीजेपी में विलय हो सकता है. ये जानकारी खुद पंजाब लोक कांग्रेस के प्रवक्ता प्रीतपाल सिंह बलियावाल ने दी है.

बता दें कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब के सीएम थे, पिछले साल 2021 में उन्होंने सीएम पद से छोड़ दिया था. इसके बाद उन्होंने नयी पार्टी बनाने की घोषणा की थी. अब 80 साल की उम्र में पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नई राजनीतिक तैयारियों की शुरुआत करने जा रहे हैं. पीएलसी के प्रवक्ता प्रीतपाल सिंह बलियावाला ने कहा कि पीएलसी में शामिल हुए 7 पूर्व विधायक और एक पूर्व सांसद भी सोमवार को बीजेपी में शामिल होंगे.

कैप्टन अमरिंदर सिंह की पार्टी ने पंजाब विधानसभा चुनाव में 28 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमें उसके सभी प्रत्याशियों का प्रदर्शन बेहद खराब रहा था. कैप्टन की पार्टी को पूरे चुनाव में महज 0.5 फीसदी वोट हासिल हुए थे.

चुनावों में प्रदर्शन…

साल 2022 में हुए पंजाब विधानसभा चुनाव में अमरिंदर सिंह की पार्टी ने बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) के साथ मिलकर अपनी दावेदारी पेश की थी. समझौते के तहत बीजेपी ने 65, अमरिंदर सिंह ने 37 और अकाली दल (संयुक्त) ने 15 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे. इनमें से केवल बीजेपी के दो उम्मीदवार ही जीत हासिल कर पाए और बाकी सभी उम्मीदवार बुरी तरह हार गए. इसके अलावा, खुद अमरिंदर सिंह अपनी सीट नहीं बचा पाए.

सियासी सफर…

राजनीति में आने से पहले अमरिंदर सिंह भारतीय सेना में थे. उन्होंने साल 1965 की जंग के बाद भारतीय सेना छोड़ दी थी. साल 1977 में उन्होंने पहली बार कांग्रेस पार्टी का हाथ थामा था और पार्टी टिकट पर साल 1980 में लोकसभा चुनाव लड़ कर पहली बार सांसद बने थे. इंदिरा गांधी के नेतृत्व में हुए ऑपरेशन ब्लू स्टार के विरोध में उन्होंने साल 1984 में कांग्रेस से पहली बार इस्तीफा दिया था. साल 1997 में सिंह ने दोबारा कांग्रेस का दामन थामा था.

बता दें अमरिंदर सिंह ने सितंबर, 2021 में कांग्रेस से दूसरी बार इस्तीफा दिया था. कांग्रेस ने उनको नजरअंदाज कर नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब प्रदेश कांग्रेस का प्रमुख बनाया था. इससे नाराज चल रहे अमरिंदर सिंह ने पहले सीएम पद और बाद में पार्टी छोड़ दी थी. पार्टी छोड़ने के बाद उन्होंने कहा था कांग्रेस के नेताओं ने उनके साथ जिस तरह का व्यवहार किया, वो ठीक नहीं था. साथ ही कई विधायकों के भी उनसे नाराज होने की खबरें थीं.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More