कश्मीर में 3 दशक बाद कल खुलेगा पहला मल्टीप्लेक्स, LG मनोज सिन्हा करेंगे उद्घाटन, जानें थिएटर की स्क्रीन और टाइमिंग के बारे में

0 231

करीब 3 दशक के लंबे इंतजार के बाद कश्मीर घाटी के लोगों के लिए फिर से बड़े पर्दे पर फिल्में देखना संभव होगा. 1 अक्टूबर से जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी में पहला मल्टीप्लेक्स स्थानीय लोगों के लिए खोला जाएगा. जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा 20 सितंबर को आमिर खान और करीना कपूर खान स्टारर ‘लाल सिंह चड्ढा’ फिल्म की स्क्रीनिंग के साथ मल्टीप्लेक्स का उद्घाटन करेंगे. हालांकि, आम लोगों को पहली फिल्म बड़े पर्दे पर देखने के लिए महीने के अंत तक इंतजार करना होगा.

थिएटर के मालिक विकास धर ने कहा ‘हम विक्रम वेधा के वर्ल्ड प्रीमियर का हिस्सा बनना चाहते हैं और इसके साथ हम अपने थिएटर को आम जनता के लिए खोलेंगे. इसमें युवाओं और बच्चों को सबसे आधुनिक सिनेमा मनोरंजन का अनुभव प्रदान करने के अलावा कई फूड कोर्ट होंगे.’

विजय धर ने कहा ‘मेरे परिवार में और हमारे खून में मनोरंजन है और 1990 में कनेक्शन टूट गया था, लेकिन सिनेमा के फिर से खुलने और स्थानीय बच्चों को बहुत जरूरी मनोरंजन के साथ मदद करने से कनेक्शन नए सिरे से बनेगा.’

बता दें मल्टीप्लेक्स के मालिक विकास धर, विजय धर के बेटे हैं, जो श्रीनगर में प्रतिष्ठित ‘ब्रॉडवे’ थिएटर के मालिक थे. ब्रॉडवे थिएटर 1990 के दशक के मध्य में एक आग की घटना में जल गया था. वह कश्मीर में सबसे बड़ा शैक्षिक समाज चलाते हैं जो फ्रेंचाइजी स्कूल भी चलाता है.

जानें थिएटर की स्क्रीन और टाइमिंग के बारे में…

पहले मल्टीप्लेक्स सिनेमा का उद्घाटन स्थानीय लोगों के मनोरंजन के लिए एक नया अध्याय होने जा रहा है. आईनॉक्स द्वारा डिजाइन किया गया, 520 की बैठने की क्षमता वाला मल्टीप्लेक्स, 32 सालों के बाद कश्मीर में पहला सिनेमाघर होगा. थिएटर में 3 स्क्रीन होंगी और रोजाना सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक 4 शो होंगे.

निजी सिनेमा हॉल के अलावा, जम्मू-कश्मीर सरकार ने नई मनोरंजन नीति के हिस्से के रूप में केंद्र शासित प्रदेश में बहुउद्देश्यीय बड़े स्क्रीन थिएटर स्थापित करने की परियोजना भी शुरू की है. एलजी मनोज सिन्हा ने रविवार को पुलवामा और शोपियां के जुड़वां दक्षिण कश्मीर जिलों में बहुउद्देशीय सिनेमा हॉल का उद्घाटन किया, जबकि अनंतनाग, श्रीनगर, बांदीपोरा, गांदरबल, डोडा, राजौरी, पुंछ, किश्तवाड़ और रियासी में इसी तरह के सिनेमा हॉल का उद्घाटन जल्द ही किया जाएगा.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में 1990 के दशक से उग्रवाद के बढ़ने के कारण प्रतिकूल परिस्थितियों के कारण सिनेमा हॉल बंद कर दिए गए थे. हालांकि, अब निवासी लंबे समय के बाद बड़े पर्दे पर सिनेमा देख सकेंगे.

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More