पुलिस झंडा दिवस: डीजीपी ने सीएम योगी को लगाया फ्लैग पिन और सौंपा प्रतीक चिह्न

0 273

यूपी में प्रत्येक वर्ष 23 नवंबर को पुलिस झंडा दिवस मनाया जाता है. इस अवसर पर राज्य के हर जनपद के समस्त मुख्यालयों, ऑफिसों, पीएसी वाहिनियों, क्वार्टर गार्ड, थानों, भवनों, कैंपों आदि पर पुलिस ध्वज फहराया गया. साथ ही प्रभारी अधिकारी द्वारा सलामी दी गई. पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों ने पुलिस ध्वज के प्रतीक (स्टीकर) को वर्दी की कमीज की बांयी जेब की बटन के ऊपर लगाया.

पुलिस झंडा दिवस पर डीजीपी देवेन्द्र सिंह चौहान ने सीएम योगी आदित्यनाथ को फ्लैग पिन लगाया और उन्हें प्रतीक चिह्न सौंपा. सीएम योगी ने ट्वीट कर यूपी पुलिस को पुलिस झंडा दिवस की शुभकामनाएं दीं.

Police Flag Day

अपने ट्विटर हैंडल से सीएम योगी आदित्यनाथ ने फोटो पोस्ट करते हुए पुलिस झंडा दिवस की शुभकामनाएं दीं. उन्होंने लिखा

‘आज ‘पुलिस झंडा दिवस’ के अवसर पर डीजीपी यूपी श्री देवेन्द्र सिंह चौहान ने पुलिस कलर (झंडा) लगाया. जन सेवा हेतु सदैव तत्पर यूपी पुलिस के समस्त जवानों व अधिकारियों को ‘पुलिस झंडा दिवस’ की हार्दिक शुभकामनाएं. जय हिंद!’

यूपी पुलिस के इतिहास में 23 नवंबर का दिन…

यूपी पुलिस के इतिहास में 23 नवंबर का दिन विशेष महत्व रखता है. क्योंकि, हर वर्ष इस दिन यूपी में पुलिस झंडा दिवस के रूप में मनाया जाता है. 23 नवंबर, 1952 के बाद प्रति वर्ष सैनिक कल्याण के लिए झंडे के स्टीकर जारी किए जाते हैं. कुरूक्षेत्र में कौरव और पांडवों के बीच धर्मयुद्ध में अर्जुन के रथ पर भी ध्वज पताका थी. ध्वज को अधर्म पर धर्म की विजय की प्रेरणा के तौर पर भी माना जाता है. पुलिस और सेना भी समाज में बुराई को दंडित करने और अच्छाई स्थापित करने के लिए कार्य करती है.

इसलिए पुलिस के शौर्य को सम्मानित करने के लिए 23 नवंबर, 1952 को भारत के प्रथम पीएम पं. जवाहर लाल नेहरू ने उत्तर प्रदेश पुलिस और पीएसी को फ्लैग प्रदान किया था. तत्कालीन पीएम नेहरू द्वारा उत्तर प्रदेश पुलिस को यह फ्लैग पुलिस और पीएसी के बलों द्वारा उनके शौर्य प्रदर्शन और उच्च कोटि की कर्तव्यपरायणता के फलस्वरूप दिए गए थे.

Police Flag Day

प्रथम पीएम नेहरू ने यूपी पुलिस को कलर व ध्वज प्रदान किया था. 4 फीट लंबे व 3 फीट चौड़े आकार का ध्वज दो रंग में है. इसमें ऊपर लाल रंग व नीचे नीला रंग है. इसे यूपी पुलिस के लिए सबसे गौरव का विषय माना जाता है, जिसमें पूरे देश में उत्तर प्रदेश ही ऐसा पहला राज्य है, जिसके नागरिक पुलिस व पीएसी बलों को देश के पीएम द्वारा ध्वज प्रदान किए गए है. तब यह समारोह लखनऊ के पुलिस लाइन में आयोजित किया गया था. इसलिए यूपी पुलिस के इतिहास में 23 नवंबर का दिन विशेष महत्व रखता है.

 

Also Read: गुजरात चुनाव: प्रचार पर रोक और वोट ना डालने पर जुर्माना, सर्वश्रेष्ठ ग्राम पंचायत का मिला पुरस्कार, जाने इस गांव के कायदे-कानून

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More