ग़ाज़ीपुर में सामने आया कोरोना पॉजिटिव, दिल्ली मरकज में हुआ था शामिल

0 270

ग़ाज़ीपुर। दिल्ली मरकज में शामिल हुए तब्लीगी जमात के लोग अब देश के कोने-कोने में कोरोना वायरस के कैरियर बन गए हैं। उत्तर प्रदेश के ग़ाज़ीपुर में भी कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आया है। पॉजिटिव शख्स दिल्ली मरकज में शामिल होकर पिछले दिनों ग़ाज़ीपुर लौटा था। वापस आने के बाद उसने महुआबाग स्थित मस्जिद में ठहरा था।

जांच में सामने आई रिपोर्ट पॉजिटीव

खबरों के मुताबिक महुआबाग-विश्वेश्वरगंज स्थित मस्जिद में मिले 11 जमाती निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए थे। बुधवार को जांच के दौरान खुलासा होते ही हड़कंप मच गया। इसमें जहां छह को बुखार की शिकायत बनी हुई है, वहीं दो का स्वैब टेस्ट के बीएचयू भेजा गया है। इसके अलावा जमातियों के संपर्क में आए तीन मौलवियों को भी क्वारंटाइन करके मेडिकल टीम नजर रखी हुई है। तेज खांसी, सर्दी व बुखार से पीड़ित एक जमाती ने मेडिकल टीम को बताया कि सभी लोग दिल्ली के निजामुद्दीन तब्लीगी मरकज में बीते 12 मार्च को शामिल हुए थे। इसके बाद सभी लोग वहां से 13 मार्च को ट्रेन से चलकर 14 मार्च को दिलदारनगर पहुंचे थे। वहां पर अपने कौम के धर्म का प्रचार-प्रसार करने के दौरान 25 मार्च को पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा हो गई। बीते सोमवार की रात सभी किसी साधन से गाजीपुर आए लेकिन बस न मिलने की स्थिति में शहर के महुआबाग-विश्वेश्वरगंज स्थित मस्जिद में ठहरे।

जिला अस्पताल में कराया गया भर्ती

इसकी जानकारी पड़ोसियों को होते ही हड़कंप मच गया था। सूचना मिलते ही कोतवाली पुलिस टीम ने सभी को वहीं क्वारंटाइन करने के साथ मेडिकल टीम ने थर्मल स्क्रीनिग की, जिसमें छह बुखार से पीड़ित मिले थे। बुधवार की सुबह पुन: एसीएमओ डा. पीके कुशवाहा के नेतृत्व में पहुंची। मेडिकल टीम ने सभी का थर्मल स्क्रीनिग किया जिसमें दो जमाती को सर्दी, खांसी व बुखार की शिकायत होने व उनकी ट्रेवलिग हिस्ट्री को जानने के बाद स्वैब टेस्ट के लिए वाराणसी के बीएचयू भेजा गया।

यह भी पढ़ें : राशन की दुकानों पर गरीबों से ‘धोखा’, कोटेदारों से मारपीट की नौबत !

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More