आंसू से भी फैल सकता है कोरोना का संक्रमण ! स्टडी में हुआ डराने वाला खुलासा…

0 526

कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर दुनिया भर में इन दिनों अलग-अलग रिसर्च की जा रही हैं। अभी तक कहा जा रहा था कि कोरोना फैलने का मुख्य कारण सांस के कणों/बूंदों के सीधे संपर्क में आना या वायरस से संक्रमित सतह को छूना है।

लेकिन एक स्टडी में दावा किया गया है कि कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीजों के आंसुओं से भी फैल सकता है। ये स्टडी अमृतसर के एक सरकारी मेडिकल कॉलेज ने की है। इस दौरान 120 मरीजों के सैंपल पर नजर रखी गई।

एक प्रतिष्ठित अखबार के मुताबिक ये स्टडी कोरोना के 120 मरीजों पर की गई। इनमें से 60 मरीजों में आंसुओं के जरिए वायरस शरीर के दूसरे हिस्से में पहुंच गया जबकि 60 मरीजों में ऐसा नहीं हुआ।

शोधकर्ताओं ने 41 रोगियों में कंजंक्टिवल हाइपरमिया, 38 में फॉलिक्युलर रिएक्शन, 35 में केमोसिस, 20 रोगियों में म्यूकॉइड डिस्चार्ज और 11 में खुजली पायी गयी। ऑक्यूलर लक्षणों वाले लगभग 37% मरीजों में मध्यम कोविड -19 संक्रमण था. बाक़ी 63% में कोविड-19 के गंभीर लक्षण थे।

रिपोर्ट के मुताबिक करीब 17.5% मरीज़ जिनके आंसू के RT-PCR टेस्ट हुए वो भी कोरोना पॉजिटिव निकले। 11 रोगियों (9.16%) में ओकुलर अभिव्यक्तियां थीं और 10 (8.33%) को कोई भी ओकुलर शिकायत नहीं थी। कोरोना वायरस रिपोर्ट में कहा गया है कि संक्रमित मरीज कंजेक्टिवायटल स्राव में संक्रमण को दूर कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: हो गया खुलासा! इस रूप में आएगी कोरोना की तीसरी लहर

यह भी पढ़ें: देश में कोरोना के डबल वैरिएंट का अटैक, एक ही शख्स में पाए गए दो अलग-अलग वैरिएंट

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More