UAE में बदले इमिग्रेशन के नियम, क्या भारतीयों को होगा फायदा

0 109

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने पिछले महीने इमिग्रेशन (दूसरे देश में आकर वहां स्थायी रूप से बसने की प्रक्रिया) नियमों जो नया बदलाव किया था, वो सोमवार से देश में लागू हो जाएंगे. नए वीजा नियमों में 10 साल की विस्तारित गोल्डन वीजा स्कीम, स्किल्ड वर्कर्स के लिए पांच साल का ग्रीन रेजिडेंसी वीजा शामिल हैं. इसके अलावा एक मल्टी-एंट्री टूरिस्ट वीजा भी शामिल है. इसके तहत विजिटर अब यूएई में 90 दिनों तक रुक सकेंगे. इमिग्रेशन नियमों में बदलाव का पर्यटकों के साथ-साथ उन लोगों पर भी बड़ा प्रभाव पड़ेगा, जो यहां काम करना चाहते हैं या संयुक्त अरब अमीरात में रहना चाहते हैं. हालांकि, भारत को इस नए नियमों से फायदा होगा. यह इसलिए क्योंकि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में जनसंख्या का सबसे बड़ा भाग भारतीय ही हैं. यहां अनुमानि 20 लाख से अधिक प्रवासी भारतीय रहते हैं, जो यूएई की कुल आबादी का 27 प्रतिशत से अधिक है.

Also Read:  फिरोजाबाद पुलिस ने पकड़ा 180 किलो का ‘फर्जी दारोगा’, पूछताछ में किया खुलासा

बदलावों का ऐसे फायदा:
-पांच साल के ग्रीन वीजा की मदद से विदेशी बिना स्थानीय नागरिकों या कर्मचारियों की मदद से खुद को स्पांसर कर सकेंगे। इस वीजा के लिए फ्रीलांसर्स, स्किल्ड वर्कर्स और निवेशक एलिजिबल होंगे।
-सिर्फ इतना ही नहीं इसके अलावा ग्रीन वीजा धारक अपने परिवार के सदस्यों को भी स्पांसर कर सकेंगे। अगर किसी ग्रीन वीजा होल्डर का परमिट एक्सपायर करता है तो उन्हें छह महीने का समय दिया जाएगा।
-गोल्डन वीजा निवेशकों, एंटरप्रेन्योर्स, व्यक्तियों और अनोखी प्रतिभा के धनी लोगों के लिए होगा। इसके तहत उन्हें 10 साल की एक्सपेंडेड रेजीडेंसी मिलेगी।
-गोल्डन वीजा होल्डर्स फैमिली मेंबर्स और बच्चों को स्पांसर कर सकेंगे। गोल्डन वीजा होल्डर के फैमिली मेंबर्स कार्ड होल्डर की मौत के बाद भी वहां रह सकते हैं, जब तक कि वीजा वैलिड रहता है।
-गोल्डन वीजा होल्डर्स का यहां पर अपने बिजनेस पर 100 फीसदी मालिकाना हक होगा।
-टूरिस्ट वीजा पर आने वाले विजिटर यूएई में 60 दिनों तक रह सकेंगे।
-पांच साल का मल्टी एंट्री टूरिस्ट वीजा यूएई आने वालों को लगातार 90 दिन रुकने की इजाजत देगा।
-जॉब एक्सप्लोरेशन वीजा प्रोफेशनल्स को यूएई में बिना स्पांसर या होस्ट के नौकरी ढूंढने में मदद करेगा।

Also Read:  भारतीय वायुसेना को मिली नई ताकत, जानें लड़ाकू हेलीकॉप्टर ‘प्रचंड’ की खासियत

 

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More