किंग चार्ल्स III: शाही परिवार के ऐसे सदस्य जिनका अफेयर और विवादों से रहा नाता, पैसा लेकर नागरिकता दिलाने का आरोप, पढ़ें इनके मशहूर किस्से

0 276

ग्रेट ब्रिटेन की क्वीन एलिजाबेथ II के निधन के बाद उनके बेटे प्रिंस चार्ल्स ब्रिटेन के नये किंग बन गए हैं. उन्हें किंग चार्ल्स III कहकर बुलाया जाएगा. वहीं, उनकी पत्नी कैथरीन अब डचेस ऑफ कॉर्नवाल कहलाएंगी. चार्ल्स शाही परिवार के ऐसे सदस्य रहे हैं जिनके प्यार और विवाद के कई किस्से मशहूर हुए. जिसकी चर्चा सिर्फ ब्रिटेन में ही नहीं दुनियाभर में हुई.

चार्ल्स की शादी 24 जुलाई, 1981 को 13 साल छोटी डायना स्पेंसर से हुई थी. लेकिन चार्ल्स का पहले से शादीशुदा कैमिला पार्कर बोल्ज नाम की महिला से अफेयर था. बताया जाता है कि यह बात डायना को मालूम थी और वो शादी को तोड़ना चाहती थीं. लेकिन, वो शाही परिवार के खिलाफ जाने का बड़ा कदम उठाने की हिम्मत नहीं कर सकीं.

साल 1996 में प्रिंस चार्ल्स और डायना का तलाक हो गया. इसके बाद कैमिला से शादी हो गई. हालांकि, इस शादी के बाद भी चार्ल्स का नाम कई महिलाओं से जुड़ा और वो चर्चा में रहे. इनमें स्पेन के ब्रिटिश राजदूत की बेटी जोर्जियाना रशेल, अर्थर वेलेस्ले, मॉडल फियोना वॉटसन, ड्यूक ऑफ वेलिंगटन की बेटी लेडी जेन वेलेस्ले समेत डेविना शेफिल्ड, लेडी सारा स्पेन्शर, लक्जमबर्ग की प्रिसेंस मारिया एस्ट्रीड के अलावा भी कई महिलाओं के नाम शामिल रहे हैं.

चार्ल्स की अपनी एक चैरिटी संस्था है, जिसका नाम है प्रिंस ऑफ वेल्स चैरिटेबल फंड. चार्ल्स पर यह आरोप लग चुका है कि उनकी संस्था ने अमीरों से पैसे लेकर उन्हें नागरिकता देने का काम किया है. पिछले साल यह मामला चर्चा में आया जब ब्रिटेन के जाने-माने अखबार ‘डेली मेल’ और ‘द संडे टाइम्स’ ने इस पूरे मामले की जानकारी दी. रिपोर्ट में बताया गया कि कैसे प्रिंस चार्ल्स की संस्था दूसरे देशों के लोगों से पैसे लेकर नाइटहुड सम्मान और नागरिकता देने का काम कर रही है.

इतना ही नहीं, रिपोर्ट में इसका सबूत देने का भी जिक्र किया गया है. रिपोर्ट में सऊदी अरब के एक नागरिक से जुड़े ऐसे दस्तावेज पेश किए जिससे इसकी पुष्टि हुई. मामला चर्चा में आने पर चार्ल्स को अपनी संस्था में बड़े पद से इस्तीफा देना पड़ा.

चार्ल्स का नाम सिर्फ पैसे लेकर नागरिकता देने के मामले में ही सामने नहीं आया बल्कि कई और आरोप लगे. आरोप लगा कि चार्ल्स ने 2013 में आतंकी ओसामा बिन लादेन के परिवार से दान स्वीकार किया. प्रिंस चार्ल्स ने लंदन में अलकायदा चीफ रहे लादेन के सौतेले भाई शेख बकर और शफीक बिन लादेन से मुलाकात की. मुलाकात के दौरान 10 लाख पाउंड लिया था.

चार्ल्स का नाम पैराडाइज पेपर्स के डॉक्यूमेंट में भी सामने आया. रिपोर्ट में कहा गया कि चार्ल्स ने छिपाकर अपने पैसे ऑफशोर कंपनी में लगाए. ये वो कंपनी थी जो क्लाइमेट चेंज के मुद्दे पर काम करती है.

Also Read: किंग चार्ल्स III बने ब्रिटेन के नये महाराज, पहली बार टेलीविजन पर हुआ समारोह का प्रसारण

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More