जब माता-पिता के सामने हुआ अमिताभ बच्चन का अपमान, शख्स बोला- ये तो फ्लॉप है फ्लॉप..

बॉलीवुड महानायक अपनी शानदार एक्टिंग से सभी के दिलों में जगह बना चुके हैं। हर साल की तरह इस साल भी फैंस के साथ साथ बॉलीवुड सेलेब्स भी उन्हें खास अंदाज में जन्मदिन की शुभकामनाएं दे रहे हैं।

0 406

बॉलीवुड के सुपरस्टार अमिताभ बच्चन आज अपना 79वां जन्मदिन मना रहे हैं। बॉलीवुड महानायक अपनी शानदार एक्टिंग से सभी के दिलों में जगह बना चुके हैं। हर साल की तरह इस साल भी फैंस के साथ साथ बॉलीवुड सेलेब्स भी उन्हें खास अंदाज में जन्मदिन की शुभकामनाएं दे रहे हैं। फिल्म सात हिंदुस्तानी से अपने करियर की शुरुआत करने वाले बिग बी ने सुपरस्टार बनने के लिए बहुत संघर्ष किया है। महानायक अमिताभ बच्चन को अपनी अलग पहचान बनाने के लिए सालों तक मेहनत करनी पड़ी थी। महानायक के जन्मदिन पर उन दो घटनाओं के बारे में बताते हैं जिनकी वजह से वह सुपरस्टार बनें।

माता-पिता के सामने हुआ अपमान:

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एक बार संघर्ष कर रहे अमिताभ से मिलने उनके माता-पिता मुंबई आए। बिग बी ने माता-पिता को स्टूडियो में शूटिंग दिखवाने के साथ ही सह-कलाकारों से मुलाकात भी करवाया। माता-पिता काफी खुश थे। टैक्सी से वापस जाते समय एक अनजान शख्स ने टैक्सी का शीशा खटखटाया। पिता हरिवंश के टैक्सी का शीशा नीचे करते ही शख्स ने गंदे तरीके से बोला- ‘तुम्हारे बेटे का यहां कुछ नहीं हो सकता, इसको यहां से वापस घर ले जाओ, ये तो फ्लॉप है फ्लॉप।’

बता दें उस समय तक अमिताभ की 12 फ़िल्में फ्लॉप हो चुकी थीं। माता-पिता के सामने ऐसे कटुवचन को सुनकर अमिताभ को बहुत बुरा लगा। अमिताभ को ये अपना नहीं अपने माता पिता का अपमान लगा। उस दिन अमिताभ ने तय कर लिया की बगैर कुछ हासिल किए वो वापिस अपने घर नहीं जाएंगे।

जब जंजीर फिल्म के प्रमोशन पर चुभ गया तंज:

अमिताभ बच्चन के फिल्मी कॅरियर की सबसे सुपरहिट फिल्म ‘जंजीर’ मानी जाती है पर आपको यह जानकर हैरानी होगी कि निर्देशक प्रकाश मेहरा के लिए अमिताभ बच्चन पहली नहीं बल्कि पांचवी पसंद थे। ‘जंजीर’ फ़िल्म के कोलकाता में प्रमोशन में अभिनेता प्राण नहीं जा पाए थे। लेकिन वहां सभी की निगाहें प्राण को खोज रही थीं। अमिताभ के मुंह पर फिल्म के निर्देशक प्रकाश मेहरा से पत्रकारों और कुछ लोगों ने बोल दिया -‘अरे डायरेक्टर साहब फ़िल्म का असली हीरो कहां हैं ?? प्राण साहब क्यों नहीं आए ?’ ये तंज अमिताभ के दिल में शूल जैसा धंस गया। प्रकाश मेहरा को अमिताभ का दर्द समझ में आ गया। प्रकाश मेहरा ने उस समय बिग बी से बोला- ‘एक बार फ़िल्म रिलीज होने दे, फिर देखना सबको पता चल जाएगा फिल्म का असली हीरो कौन है’।

प्रकश मेहरा की बात सच साबित हुई। फिल्म रिलीज होने के बाद अमिताभ जब वापस कोलकाता गए तो होटल के सामने की रोड कई घंटों जाम रही, फिर जो हुआ वो इतिहास है।

 

यह भी पढ़ें: धोनी के मैच विजयी शॉट जमाते ही भावुक हो गईं साक्षी, देखिए CSK की जीत के इमोशनल लम्हें

यह भी पढ़ें: पहली बार जंगली घास से बना पॉपकॉर्न, आखिर कैसे बना सबसे पसंदीदा स्नैक? जानिए इसकी कहानी

(अन्य खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें। आप हमेंट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

 

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More