World AIDS Day : HIV संक्रमण के मामले में भारत का नंबर दूसरा

विश्व एड्स दिवस आज

0

World AIDS Day : ह्यूमन इम्यूनो डिफिसिएंसी वायरस (एचआईवी) संक्रमण तेजी से बढ़ा है। दुनिया आज यानी शुक्रवार को विश्वम एड्स दिवस मना रही है. बात करते हैं एचआईवी की तो इसका पता साल 1981 में ही चल गया था, लेकिन भारत में इसका पहला मामला 1986 में सामने आया था. तब चेन्नई की रहने वालीं कुछ सेक्स वर्कर्स में इस संक्रमण की पुष्टि हुई थी. उस समय तक दुनिया के कई देशों में इसका विस्ताईर हो चुका था और भारत में भी इसका प्रवेश हो गया था. इसके संक्रमण के मामले में भारत दुनिया में दूसरे नंबर पर है.

एड्स के बारे में बात करें तो एड्स का मतलब है कि शरीर में लोगों से लड़ने की क्षमता कम होने से अप्राकृतिक रोगों से अनेक लक्षण प्रकट होना। एचआईवी संक्रमण के बाद शरीर में एक ऐसी स्थिति बन जाती है कि इससे संक्रमित व्यक्ति की मामूली से मामूली बीमारियों का इलाज भी दूभर हो जाता है और मरीज मृत्यु की ओर खिंचा चला जाता है। एड्स जैसी महामारी के कारण अफ्रीका के तो कई गांव नष्ट हो चुके हैं।

आंकड़े डराने वाले

एचआईवी संक्रमण के आंकड़े डराने और चिंतित करने वाले आंकड़े सामने आए हैं. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक जनवरी से नवंबर के बीच वाराणसी व आसपास के जिलों में 393 लोग एचआईवी संक्रमित मिले हैं. इनमें दो ट्रांसजेंडर शामिल हैं. सर्वाधिक संक्रमण युवाओं में मिला है. इनकी उम्र 20 से 40 वर्ष के बीचे की बताई गई है. घर से दूर रहकर पढ़ाई करने वाले युवा भी संक्रमित मिले हैं.

18 साल में मिले 5313 संक्रमित

वाराणसी के बीएचयू अस्पताल स्थित एआरटी सेंटर वर्ष 2005 से चल रहा है. तब से अब तक 5,313 संक्रमित मिल चुके हैं. इनमें 2,500 पुरुष और 2,378 महिलाएं शामिल हैं. पांच ट्रांसजेंडर, 15 साल से कम उम्र के 290 बालक और 140 बच्चियां भी संक्रमित मिली हैं. इन सभी का इलाज चल रहा है. नियमित दवाई लेने के लिए संक्रमित सेंटर आते हैं. एआरटी सेंटर पर काउंसिलिंग की जाती है, फिर जरूरत के हिसाब से इलाज किया जाता है. इस सेंटर पर 26,974 लोगों ने पंजीकरण कराया था. सेंटर पर आने वालों को संक्रमण से बचाव के प्रति जागरूक किया जाता है. बताया जाता है कि संक्रमण के बाद नियमित उपचार, जांच कराते रहना चाहिए.

Also Read : ये 5 आदतें दे सकती Heart Attack को दावत, आज ही इसे छोड़े

जिला अस्पताल भी आए 3641 संक्रमित, 42 को टीबी भी

जिला अस्पताल स्थित एआरटी सेंटर में वर्ष 2011 से अक्तूबर 2023 तक 13 वर्ष में 5,417 लोगों ने पंजीकरण कराया. इनमें से 3641 संक्रमित मिले हैं. 2,423 लोग सेंटर पर आकर नियमित दवाइयां ले रहे हैं. एआरटी सेंटर पर डाटा मैनेजर अजीत कश्यप ने बताया कि अप्रैल से अक्टूबर 2023 तक 148 नए संक्रमित मिले. अप्रैल से अक्टूबर के बीच 42 संक्रमित ऐसे आए, जिन्हें टीबी भी है.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More