हाथरस सत्संग हादसे में मारे गए लोगों को महिला संगठन के लोगों ने दी श्रद्धांजलि, न्याय की मांग

0

वाराणसी: अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन की महिलाओं ने आज लंका स्थित बीएचयू गेट पर श्रद्धांजलि सभा कर न्याय की मांग की. संगठन की प्रदेश सचिव कुसुम वर्मा ने हाथरस के दर्दनाक सत्संग कांड में हुई मौतों पर उनके परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की. कुसुम वर्मा ने कहा कि हाथरस का दर्दनाक हादसा जिला प्रशासन की लापरवाही से ही हुआ है. कहा कि जिस सत्संग में हजारों लोगों के शामिल होने की जानकारी और अनुमति जिला प्रशासन के संज्ञान में थी लेकिन वहां के लिए कोई पुख्ता इंतजाम न किए गए थे. मौके पर पर्याप्त पुलिस प्रशासन की गैर मौजूदगी यह दर्शाती है कि उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी सिर्फ अपने भाषणों में ही प्रदेश की जनता को सुरक्षा देने की लफ्फाजी कर रहे हैं.

एफआईआर में बाबा का नाम ना होना आश्चर्यजनक

प्रदेश सचिव ने यह भी कहा की मीडिया रिपोर्ट से यह ज्ञात हुआ है की इस हादसे में जो एफआईआर दर्ज की गई है उसमें सत्संगी भोले बाबा जिनका पिछला अपराधिक रिकार्ड है (यौन शौषण के कई मुकदमें भी दर्ज हैं) का नाम दर्ज नहीं है. यह आश्चर्यजनक है. इससे यह सिद्ध होता है की भाजपा ऐसे पाखंडी बाबा को संरक्षण देने का काम कर रही है.

दिल्ली- NCR में 5 दिनों तक झमाझम बारिश! IMD ने जारी किया अलर्ट

राष्ट्र्पति के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा

इस अवसर पर महिलाओं ने राष्ट्रपति के नाम संबोधित पांच सूत्रीय मांगों का ज्ञापन भी दिया। यह मांगे हैं..
1. हाथरस सत्संग हादसे की निष्पक्ष उच्चस्तरीय जांच की जाए.
2. अपराधिक रिकार्ड वाले भोलेबाबा पर एफआईआर दर्ज कर तत्काल गिरफ्तार कर न्यायिक प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाए.
3.भगदड़ में मारे गए लोगों के परिवार को उचित मुआवजा दिया जाए.
4.घायलों को उच्च मेडिकल ट्रीटमेंट की गारंटी की जाय.
5.अपराधिक पृष्ठभूमि वाले/ अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाले बाबाओं और उनको संरक्षण देने वाले राजनेताओं और नौकरशाहों के साथ उनके संबंधों की जांच पड़ताल की जाय.
कार्यकम में स्मिता बागड़े, विभा वाही, इप्शिता, सुतपा गुप्ता, विभा प्रभाकर, सोमिल, प्रिया, धनशीला, सविता, कमली, सोनी आदि मौजूद रहीं.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More