यूपी: लेखपाल बनते ही पत्नी ने छोड़ा पति का हाथ…

0

यूपी की झांसी से सामने आया एसडीएम ज्योति मौर्य के मामले ने जमकर सुर्खियां बटोरी थी, जिसे लोग आज भी भूल नहीं पाए हैं . वहीं दूसरी तरफ यूपी में एक बार फिर यह मामला दोहराया गया है. इस मामले में पत्नी ने लेखपाल बनते ही पति से नाता तोड़ लिया. पति ने अपनी पत्नी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि, वह पेशे से कारपेंटर है.उसने बताया कि, उसकी पत्नी ने लेखपाल बनते ही उससे बात करनी बंद कर दी थी और लव मैरिज के दो साल बाद उसने उससे नाता तोड़ लिया.

दो साल पहले की थी लव मैरिज

बुधवार को डीएम झांसी के कलेक्ट्रेट में नवनियुक्त लेखपालों को नियुक्ति पत्र दे रहे थे. तभी सभागार के बाहर अपनी बीवी ऋचा सोनी विश्वकर्मा को खोजते हुए नीरज विश्वकर्मा वहां पहुंच गया. नीरज ने बताया कि, ऋचा से उसे पांच साल पहले एक दोस्त ने मिलाया था. जिसके बाद दोनों में धीरे-धीरे दोस्ती और फिर प्यार हो गया. जिसके बाद दोनों ने 6 फरवरी 2022 को कोर्ट मैरिज कर ली थी. वह अपने काम से बढ़ई है, लेकिन उसने ऋचा को सरकारी नौकरी करने के लिये कोचिंग करवाई , पढ़ाई का खर्चा दिया.

इसके आगे बताते हुए नीरज ने कहा है कि, साल 2022 में यूपी लेखपाल भर्ती के लिए बीवी फॉर्म भरा था आए ऋचा ने 2023 में परीक्षा पास कर ली थी. घर में उसके परीक्षा में सफलता मिलने से खुशी की लहर दौड़ गयी थी. सब कुछ ठीक था, लेकिन जनवरी 2024 में ऋचा कॉलेज जाने की बात कहकर घर से निकली थी, लेकिन फिर भी वापस नहीं आई. तब से नीरज पत्नी उसकी खोज कर रहा है.

लेखपाल बीवी के बदले तेवर

बीवी की तलाश में नीरज ससुराल पहुंचा, जहां सास-ससुर ने उसे यह कहकर वापस भेज दिया कि, ऋचा वहां नहीं है. इसके बाद नीरज ने इस पर पत्नी के लापता होने की सूचना थाने में दी. जिस पर ऋचा को कुछ घंटों में पुलिस ने ढूंढ निकाला . लेकिन कोतवाली में ऋचा ने जो कहा उससे नीरज के पैरों तले जमीन खिसक गई. ऋचा ने कहा कि, अब वह लेखपाल है. जबकि उसका पति कॉरपेंटर है. ऐसे में दोनों का संबंध मेल नहीं खाता हैं.नीरज का दावा है कि लेखपाल बनने के बाद उसकी पत्नी ने उससे बातचीत करना बंद कर दिया है. वह फोन भी नहीं उठाती है.

भारत ने ज़िम्बाब्वे के खिलाफ जीता मैच, सीरीज में बनाई 2-1 की बढ़त

कलेक्ट्रेट भवन में इंतजार करता रहा नीरज

कलेक्ट्रेट भवन में अपनी बीवी का इंतजार करते हुए नीरज बुधवार को सभागार में उसकी बीवी की तलाश में चला गया. उसे पता चला कि उसकी बीवी ऋचा लेखपाल का प्रमाण पत्र लेने कलेक्ट्रेट भवन पहुंची है. बीवी मुख्य गेट पर इंतजार करता रहता था, लेकिन ऋचा बैकडोर से चली गई.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More