गर्मी के कारण बदली बीएचयू के सेमेस्टर एक्जाम की टाईमिंग

0

काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) की सेमेस्टर परीक्षाओं के समय को लेकर बदलाव किया गया है. 4 जून से 30 जून तक होने वाली सेमेस्टर परीक्षाओं के लिए नई समय शारिणी जारी हो गई है. बीएचयू की ओर से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक अब 30 जून तक होने वाली सभी सेमेस्टर परीक्षा सुबह 8 से 11 और दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक होंगी. इसके लिए परीक्षा नियंत्रक कार्यालय ने विश्वविद्यालय के सभी संस्थान और संकाय के प्रमुखों को पत्र भेजा है. इससे पूर्व अलग-अलग संकायों की परीक्षाओं का समय अलग-अलग था. कई विभागों की परीक्षाएं दोपहर 1:30 से शाम 4:30 बजे तक होती थीं.

Also Read : वाराणसी में 14 टेबल पर 30 राउंड की होगी मतगणना

छात्रों की सेहत को ध्यान में रखकर लिया गया है फैसला

परीक्षा नियंत्रक कार्यालय की ओर से मिले पत्र के बाद अब परीक्षाओं की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. बीकॉम, एमकॉम और एमबीए की परीक्षाएं 4 जून से सुबह 8 से 11 बजे तक होंगी. बीएचयू के पीआरओ डॉ. राजेश सिंह ने बताया कि भीषण गर्मी और हीट वेव के कारण छात्रों को किसी तरह की परेशानी न हो, इसके लिए विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह फैसला लिया है.

45 पार पहुंचा पारा

वाराणसी में पिछले दिनों पारा 47 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था. वहीं भीषण गर्मी और उमस के कारण घाटों से लेकर सड़कों पर सन्नाटा पसरा दिखाई दे रहा था. हालांकि नौतपा के खत्म होने के बाद से तापमान में थोड़ी कमी जरूर आई है लेकिन अब भी पारा 42 डिग्री सेल्सियस के पार ही बना हुआ है.

पूरे उत्तर भारत में पड़ रही है भीषण गर्मी

ज्येष्ठ महीने के शुरुआत के बाद से ही उत्तर भारत में गर्मी का सितम जारी है. राजस्थान, दिल्ली, पंजाब, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश समेत उत्तर भारत के अन्य राज्य गर्मी से तप रहे हैं. मौसम वैज्ञानिक भी गर्मी को देखते हुए दोपहर के समय बाहर नहीं निकलने की सलाह दे रहे हैं.
वहीं गर्मी के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. जहां घाटों एवं सड़कों पर सन्नाटा पसर गया है. बनारस घूमने आए पर्यटक भी गर्मी के कारण होटलों एवं विश्राम गृह में ही अधिकांश समय व्यतीत कर रहे हैं. नाविकों के रोजगार पर भी इसका असर पड़ रहा है.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More