बिहार में पुल गिरने का सिलसिला जारी, एक हफ्ते में गिरा तीसरा पुल…

0

पटना: बिहार में सरकार गिरने और बनने की तरह अब राज्य में पुल भी गिरने और बनने लगे हैं. इस दिनों में बिहार में पुल गिरने की बात आम हो गई है. एक के बाद एक के पुलों के गिरने से इसको बनने वालों को लेकर विश्वसनीयता पर अब सवाल उठ रहे हैं. शनिवार की रात मोतिहारी में घोड़ासहन प्रखंड के चैनपुर स्टेशन की ओर जाने वाली सड़क पर करीब 45 किलोमीटर लम्बा बन रहा पुल अचानक से गिर गया. बिहार में एक हफ्ते के अंदर यह तीसरा पुल है जो गिरा है .इससे पहले अररिया और सिवान में पुल गिर चुका है.

ढलाई होने के बाद गिरा पुल…

बता दें कि यह पुल करीब 1 करोड़ 59 लाख और 25 हजार की लागत से बन रहा था. कहा जा रहा है की शनिवार को इस पुल में ढलाई हुई थी जिसके थोड़ी देर बाद यह पुल गिर गया. हालांकि , इस मामले में पुल बनाने वाले अधिकारी इसे अपनी लापरवाही मानने के बजाए असामाजिक तत्वों की कार स्तानी बताई. इतना ही नहीं पुल का उद्घाटन BJP की पूर्व सांसद रमा देवी ने किया था.

सिवान में भी गिरा था पुल

सिवान में गंडक नहर पर बना हुआ एक पुल अचानक गिर गया. पुल गिरने से अचानक आई तेज आवाज से इलाके में हड़कंप मच गया. पिलर धंसते ही कुछ ही मिनट में पुल धड़ाम से गिर गया. इस हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ है. जानकारी के मुताबिक, पुल काफी पुराना था और बीते वर्ष नहर का निर्माण कराया गया था, लेकिन नहर बनाने में लापरवाही हुई. ऐसे में पानी के तेज बहाव से पुल के पिलर से मिट्टी का कटाव होने लगा और पुल का पिलर धंसने लगा.

अपना दल के बाद ओपी राजभर ने भी पार्टी इकाइयां की भंग…

अरिया में भी गिरा था पुल

अररिया जिले में हाल ही में बकरा नदी पर बना पुल धंस गया था. 12 करोड़ से निर्मित इस पुल का अभी उद्घाटन भी नहीं हुआ था. पुल के दो से तीन पिलर नदी में धंस गए और पुल गिर गया. यह पुल सिकटी और कुर्साकांटा प्रखंड को जोड़ने वाला था.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More